मंदसौर में आ गई कोरोना की तीसरी लहर, चार संक्रमित आए सामने, आज से लगेंगे प्रतिबंधात्मक आदेश

 

मंदसौर जिले में कोरोना की तीसरी लहर ने दी दस्तक 2022



प्रदेश के साथ अब मंदसौर जिले में भी तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। प्रशासन ने कुछ लोगों के सैंपल लिए थे जिनमें से चार लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। पॉजिटिव पाए गए चारों मरीज शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में रहते हैं। कुछ दिनों पहले दुबई से मंदसौर लोटी महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी जिसके सैंपल को जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए दिल्ली भेजा गया था लेकिन अभी तक उसकी रिपोर्ट नहीं आई है। प्रशासन ने फैसला लिया है कि अब जिले में कोरोना के मामले बढ़ने के कारण प्रतिबंधात्मक आदेश शुरू हो जाएंगे। इसके बाद अब सरकार जिले में प्रतिबंधात्मक आदेश लागू कर रही है जिसमें आपको गाइडलाइन के अनुसार ही बाजार में घूमना और कार्यक्रम करने होंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी अपने बैठक में कोरोना की नई गाइडलाइन जारी कर दी है।



जिले में धारा 144 लागू हो सकती है



मंदसौर प्रशासन ने जिले में कुछ आदेश लागू किए हैं जिसमें शादी समारोह में सिर्फ ढाई सौ लोगों को आने की परमिशन रहेगी। शव यात्रा में सिर्फ 50 लोग ही शामिल हो सकते हैं जिले में जल्द ही धारा 144 लागू हो सकती है। स्वास्थ्य वैज्ञानिकों के अनुसार प्रदेश में तीसरी लहर जनवरी के आखिरी सप्ताह में आनी थी लेकिन नए साल के पहले सप्ताह में ही मंदसौर जिले में कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। पड़ोसी जिले रतलाम और राजस्थान के प्रतापगढ़ में तेजी से मरीज आ रहे थे जिससे यहां भी आशंका बनी हुई थी। मंदसौर में सभी सिंपलों की रिपोर्ट में चार लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई इसके बाद प्रशासन सतर्क हो गया है। पॉजिटिव पाए गए मरीज शहर के अलग-अलग स्थानों पर रहते हैं जिनमें से एक स्टील नगर दूसरा पुलिस लाइन तीसरा चंद्र पुरा और चौथा दशरथ नगर का निवासी है। 




रात के कर्फ्यू समेत अन्य प्रतिबंध भी जिले में जारी किए गए




कोरोना के मरीज सामने आने के बाद भी लोग लापरवाही बरत रहे हैं। इसलिए प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए लोग जिले में निम्न प्रतिबंध लागू किए हैं।


1- ऐसे मेले जहां हजारों की संख्या में भीड़ एकत्रित होती है उन पर प्रतिबंध लगाया गया है।


2- विवाह में दोनों पक्षों के मिलाकर 250 से अधिक लोगों को मंजूरी नहीं है।


3- अंतिम यात्रा उठाने में सिर्फ 50 लोग ही आ सकते हैं।


4- जहां पर ज्यादा संक्रमण फैलेगा वहां कटेनमेट जोन बनाकर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी।


5- सार्वजनिक स्थानों पर मास के सीनेटर 1000 और शारीरिक दूरी बनाना आवश्यक है अन्यथा उचित कार्यवाही की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ