मंदसौर: कंबल बेचने के बहाने ठग लिए 5.50 लाख रुपए, सीतामऊ क्षेत्र में आरोपी ने ₹10 प्रति कंबल पर फायदा बताया था

प्रति कंबल पर ₹10 का फायदा बताकर हड़प लिए 5.50 लाख रुपए 




मंदसौर जिले के सीतामऊ तहसील के गांव बोरखेड़ी जागीर में एक व्यक्ति को कंबल बेचने वालों ने उल्लू बना दिया और साढ़े पांच लाख रुपए ठग लिए। जानकारी में बताया गया है कि बोरखेड़ी जागीर रहने वाला निवासी श्रवण पुत्र सद्दा कछावा के साथ कंबल बेचने वालों ने प्रति कंबल पर ₹10 का फायदा बताकर 5.50 लाख रुपए की ठगाई कर ली। आरोपियों ने व्यक्ति को प्रति कंबल पर ₹10 का फायदा बताकर उसकी बैंक से अपने खाते में 5.50 रुपए डलवा लिए और सामने से कंबल भी नहीं भेजें। आरोपियों से धोखा खाने वाले व्यक्ति ने आज से 11 महिने पहले सीतामऊ थाने में आरोपियों के खिलाफ धोखा देने वाली धारा 420, 34 के तहत मामला दर्ज करवाया था। 




पुलिस ने अभी तक कोई उचित कार्यवाही नहीं की है



 11 महिने पहले शिकायत दर्ज कराने के बावजूद भी अभी तक सीतामऊ पुलिस ने कोई उचित कार्यवाही नहीं की है। पुलिस की इस लापरवाही से नाराज होकर फरियादी युवक अपने परिवार के साथ पुलिस अधीक्षक पर पहुंचा। श्रवण कछावा ने पुलिस अधीक्षक को जानकारी देते हुए बताया कि परिवार में ही दूर के रिश्तेदार पवन पुत्र मोहनलाल बंजारा निवासी गोपालपुरा और श्रवण पुत्र लालू राम निवासी गंगरार राजस्थान के कहने पर उन्होंने अलग-अलग बैंकों से अलग-अलग ब्याज पर कंबल खरीदने के लिए विभिन्न किस्तों में 5.50 लाख रुपए जमा किए थे। सारे पैसे इकट्ठे कर श्रवण कुमार ने अपने खाते से पैसे कंबल देने वाले महेश कुमार को भेज दिए थे।




कंबल खरीदने का उपाय देने वाले दोनों ने भी मदद नहीं की




फरियादी श्रवण कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि पैसे महेश कुमार के खाते में डालने के बाद भी उसने कंबल नहीं भेजें। कंबल भेजने को लेकर जब श्रवण कुमार ने दोनों आरोपियों को कहा तो उन्होंने भी कुछ मदद नहीं की। फरियादी श्रवण कुमार ने पुलिस अधीक्षक से यह भी कहा कि 11 महीने पहले शिकायत दर्ज कराने के बावजूद भी पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई। पिछले 11 महीनों से व्यक्ति पुलिस थाने के चक्कर काट रहा है लेकिन उसे न्याय नहीं मिल पा रहा है। इसके बाद फरियादी ने पुलिस अधीक्षक से न्याय दिलाने की मांग करते हुए कहा कि आरोपियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही की जाए और मेरे पैसे वापस दिए जाए। इसके बाद एसपी ने सीतामऊ पुलिस को मामले में कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ