मंदसौर: शिक्षकों ने स्कूल में पौधों की जगह पेड़ की डालियां लगाई, युवाओं ने वीडियो बनाकर खोली पोल

 

पौधारोपण के दौरान पौधों की जगह पेड़ की डालियां लगाई 2022



मंदसौर जिले में सीतामऊ तहसील के गांव पोटलिया गांव में सरकारी स्कूल का एक वीडियो सामने आया है जहां पर शिक्षकों ने पौधारोपण अभियान के दौरान पौधों की जगह पेड़ की डालियां लगा दी। स्कूल स्टाफ ने स्कूल परिसर में पौधारोपण की जगह पेड़ की टहनियां काटकर लगा दी जिसका वीडियो गांव के युवाओं ने बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जिससे स्कूल के स्टाफ की पोल खुल गई। दरअसल जब स्कूल परिसर में पौधारोपण कार्यक्रम चल रहा था कब कुछ युवाओं ने वहां देख लिया। इसके बाद जब स्कूल की छुट्टी हुई और सभी शिक्षक अपने घर चले गए तब गांव के युवाओं ने आकर वीडियो बनाया और शिक्षकों की पोल खोल दी। जहां पौधारोपण किया जा रहा था वहां पर जब युवाओं ने जाकर पौधे उखाड़े तो पेड़ की टहनिया निकली और पौधे के कोई भी जड़ नहीं थी।




युवाओं ने विडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया



युवाओं ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया जो वायरल हो गया और सभी लोगों पर पहुंच गया।जब यह विडियो स्कूल के शिक्षकों पर भी पहुंचा तो शिक्षकों ने अगले दिन स्कूल पहुंचकर सारी कहानियों को निकाला और वहां पर पौधारोपण किया। इसके अलावा स्कूल के शिक्षकों ने टी गार्ड भी लगाएं। दरअसल पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार ने मां की बगिया अभियान चलाया था जिसके अंतर्गत प्रदेश के सभी शासकीय स्कूलों में पौधारोपण होना था लेकिन सीतामऊ के पोटलिया गांव में शिक्षकों ने पौधों की जगह पेड़ की डालियां लगा दी। ऐसा करके शिक्षकों ने पेड़ की डालियां लगाकर पौधों और टी गार्ड के पैसे बचा लिए। हालांकि उन्हें पता नहीं था कि उनके द्वारा की गई यह हरकत गांव के युवाओं ने देख ली है। इसके बाद युवाओं ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।



स्कूल प्रभारी ने कहा: दूसरो ने डालिया लगा कर वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया



वीडियो को देखकर स्कूल स्टाफ ने आनन-फानन में डालिया उखाड़ी और उनकी जगह पौधे लगाए। जब स्कूल प्रभारी से मामले की जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि  शनिवार को गांव के मजदूर से स्कूल में गड्ढे खोदने के लिए कहा गया था और पौधारोपण का कार्य अगले दिन होना था लेकिन गांव वाले ही कुछ लड़कों ने गड्ढों में पेड़ की डालियां लगा दी और वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वीडियो देखने के बाद स्कूल वालों ने पौधारोपण किया है और पौधों के आसपास जालिया भी लगाई है। वीडियो बनाने वाले कचरू दास बैरागी ने बताया कि स्कूल में अभियान के तहत पौधों की जगह कहानियां लगा दी थी इसलिए हमने सोशल मीडिया पर वीडियो बनाकर वायरल किया। वीडियो सामने आने के बाद यहां पर असली पौधे लगाए गए।




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ