अप्रैल-मई में हो सकते है पंचायत चुनाव : मार्च तक परिसीमन पक्रिया पूरी होगी, इसी बीच सुलझ सकता है ओबीसी आरक्षण का मामला

 अप्रैल-मई में हो सकते है पंचायत चुनाव : मार्च तक परिसीमन पक्रिया पूरी होगी, इसी बीच सुलझ सकता है ओबीसी आरक्षण का मामला





Madhya Pradesh: राज्य निर्वाचन आयोग ने वोटर लिस्ट बनाने का आदेश जारी कर दिया है। मध्यप्रदेश में अप्रैल मई में हो सकते है पंचायत चुनाव। 45 दिनों का परिसीमन ने दिया समय। इसी बीच यह उमीद है कि सुप्रीम कोर्ट ओबीसी आरक्षण का मामला सुल्जा दे। ओबीसी आरक्षण का मामला सुलझते ही पंचायत चुनाव का बिगुल बज सकता है।


सुप्रीम कोर्ट में ओबीसी आरक्षण का मामला होने की वजह से पंचायत चुनाव रोक दिए गए थे। जिसके बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने वोटर लिस्ट बनाने के लिए टाइम लाइन जारी कर दी है। अब वोटर लिस्ट बनने के साथ अधिसूचना भी जारी होने तक 3 महीने का समय लग सकता है। सब ठीक रहा तो अप्रैल मई तक पंचायत चुनाव करवाने का डंका एक बार और बज सकता है।


सरकार जल्द चुनाव कराने के लिए प्रतिबंध


पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने कहा कि परिसीमन की प्रक्रिया शूरु हो चुकी है। सरकार ओबीसी आरक्षण के बिना नही करवाएंगे चुनाव इस हिसाब से चुनाव जल्द से जल्द हो सकते है। और अब यह भी देखना है कि कोरोना संक्रमण की स्थति क्या कहती है। हमारा कहना था कि परिसीमन दोबारा हो , तो उसे दोबारा किया जा रहा है और ओबीसी आरक्षण 27 प्रतिशत हो। इसके बाद ही चुनाव शुरू हो जाएंगे।



कांग्रेस सरकार का परिसीमन ज्यूडिशरी अप्रोव्ड है 


विवेक तन्खा ने कहा कि एक बार पिरिसिमन विधिवत रूप से कोंग्रेस सरकार ने वर्ष 2019 में किया। हाइकोर्ट में 250 से अधिक याचिकाई लगी थी। सभी याचिकाएं डिसमिस हो गई थी। राजनीति परिसीमन कर रहे हैं तो 200 से 300 याचिकाएं कोर्ट में फिर आएगी।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ