मंदसौर: शामगढ़ में युवक को मंदिर के नाम पर गेहूं इकट्ठा करना पड़ा महंगा, लोगों ने पीटा


घर से गेहूं इकट्ठा करना पड़ा महंगा 2021



मंदसौर जिले के शामगढ़ क्षेत्र में नगर के वार्ड नंबर 6 स्थित पंजाबी कॉलोनी गुरुद्वारे के पास शाम 4:00 बजे गेहूं एकत्रित करने को लेकर युवक पहुंचा और मंदिर के नाम पर गेहूं मांगने लगा लेकिन उस व्यक्ति को यह ढूंढ महंगा पड़ गया और लोगों को पता चल गया। जानकारी के अनुसार पता चला है कि एक मकान में घर पर रहने वाली महिला को घर के बाहर खड़े युवक ने कहा कि गायत्री शक्तिपीठ पर भंडारे के लिए गेहूं इकट्ठा कर रहे हैं। युवक जब महिला से गेहूं मांगने लगा तो इसकी खबर महिला के पति कपिल राठौर को मिली और वह बाहर आया और जानकारी ली तो युवक ने बताया कि गायत्री शक्तिपीठ पर भंडारे का आयोजन हो रहा है। इसलिए गेहूं इकट्ठा कर रहे हैं।



कपिल राठौर ने सच्चाई जानकर आरोपी को पकड़ा



यह पूछने के बाद युवक ने कपिल राठौर और उसकी पत्नी से कहा कि आप दोनों को भी भंडारे में आना है। यह खबर जब युवक द्वारा अपने पिताजी गायत्री शक्तिपीठ के सदस्य रमेश राठौर को बताई गई तो वह तत्काल युवक के घर पहुंचे। युवक का घर पंजाबी कॉलोनी में था जब वह युवक के घर पहुंचे तो वह भागने लगा लेकिन उन्होंने दो-तीन घर छोड़ कर उस युवक को पकड़ लिया। जब युवक के मुंह से मास्क हटाया गया तो शराब की बदबू आ रही थी। जब लोग उससे पूछताछ कर रहे थे तब वह कुछ नहीं बोल रहा था और भागने की कोशिश कर रहा था। जैसे ही आरोपी को मौका मिला वह हाथ छुड़ाकर भाग गया।




सब्जी मंडी कॉर्नर पर लोगों ने आरोपी को पकड़ा और पिटाई की




आरोपी जब हाथ छुड़ा कर भाग गया तो इसकी सूचना सभी तरफ दी गई इसके बाद कुछ लोगों ने आरोपी को कॉलोनी के समीप ही सब्जी मंडी में कॉर्नर पर पकड़ लिया और उसकी पिटाई करना शुरू कर दी। युवक द्वारा हाथ जोड़ जोड़ कर माफी मांगी गई इसके बाद लोगों ने रहम खा कर आरोपी को माफ कर दिया। व्यक्ति को सख्त हिदायत भी दी गई और गायत्री शक्तिपीठ के सदस्य रमेश राठौर द्वारा बताया गया कि नगर एवं ग्रामीण लोगों को ऐसे लोगों से सावधान रहना चाहिए। जो लोग घर घर जाकर दुधाखेड़ी माता जी एवं शक्तिपीठ के नाम पर भंडारे को लेकर गेहूं मांग रहे हैं उनसे सावधान रहना चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ