ओमिक्रॉन वैरिएंट की रफ्तार दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। देश में हर चार में से एक मरीज ओमरिकॉन का सामने आ रहा है

 ओमिक्रॉन वैरिएंट की रफ्तार दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। देश में हर चार में से एक मरीज ओमरिकॉन का सामने आ रहा है।

दुनिया में फैल ओमिक्रॉन वैरिएंट वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है यह भारत में भी तेजी से फैलते जा रहा है अभी तक कुल मिलाकर 200 मरीज भारत में आए 56 मरीज दिल्ली से ही।






New Omricon verient, corona virus,

दुनिया में बढ़ते ओमिक्रॉन वैरिएंट दिन बे दिन बढ़ता ही जा रहा है।देश में ओमिक्रॉन संक्रमितों की संख्या 200 के पार पहुंच गई है।स्वस्थ मंत्रालय ने दी इसकी जानकारी।मध्यप्रदेश राजधानी में कुल 56 मरीज सामने आए यानी हर 4 में से 1 आदमी को यह वायरस हो रहा है।


महाराष्ट्र में आए कुल नए 11 मरीज

महारष्ट्र में अभी तक आए कुल 11 मरीज ,मुम्बई के एयरपोर्ट पर मील 8 मरीज।


एलएनजेपी अस्पताल में ओमिक्रॉन के 34 मामले


एलएनजेपी अस्पताल दिल्ली में 34 मामले सामने आए जबकि 11 मरीज डिस्चार्ज हो चुके।दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने ये जानकारी दी है।दिली के अस्पतालों में अभी तक 56 मरीज पाए जाने पर जैन ने कहा कि हुम् निजी और केंद्रीय अस्पतालों से पता करेंगे।


ब्रिटेन से गोवा आए 4 यात्री कोरोना पॉजिटिव


आज ही आए ब्रिटैन से गोवा 4 कोरोना पॉजिटिव पाए गए


ओमिक्रॉन वैरिएंट की संख्या पहुची 200

ओमिक्रॉन वैरिएंट की रफ्तार हुई तेज। स्वस्थ मंत्रालय ने बताया कि  आज ही 200 मरीज ओमिक्रॉन वैरिएंट के पाए गए।ओमिक्रॉन वैरिएंट के मरीजों की संख्या दिल्ली और महारष्ट्र में सबसे ज्यादा है। 54-54 मरीज इन दोनों राज्यो में सामने आए। स्वस्थ मंत्रालय के अनुसार अभी तक 12 राज्यो में यह मरीज सामने आए।









महाराष्ट्र में 31 और दिल्ली में 12 मरीज हुए ठीक

देश भर में भलेही ओमिक्रॉन वैरिएंट की संख्या दिन बे दिन बढ़ती ही जा रही है, लेकिन एक राहत की बात भी की इससे ठीक होने वाली मरीजो की संख्या भी बढ़ती ही जा रही है।महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के अब तक 54 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से 31 मरीज ठीक हो चुके हैं. वहीं, दिल्ली में अब तक 28 मरीज मिले हैं, जिसमें से 12 को डिस्चार्ज कर दिया गया है।


कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए बनाया isolation ward और खास वेंटीलेटर्स


पहली और दूसरी लहर के बाद अब संभवत: तीसरी लहर और ओमिक्रॉन वैरिएंट को देखते हुए लोगों के मन में डर बढ़ता जा रहा है. नोएडा के यथार्थ अस्पताल में कोरोना से निपटने के लिए अब 1200 बेड्स की व्यवस्था कर दी गई है. 66 आईसीयू बेड्स लगाए गए हैं. बच्चों के लिए भी अलग से 16 आईसीयू बेड की व्यवस्था की गई है. यथार्थ हॉस्पिटल की डायरेक्टर डॉक्टर मंजू त्यागी ने कहा कि यहां एक स्पेशल आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ