पंचायत चुनाव: कोर्ट में याचिका के चलते नामांकन में नहीं दिख रही रुचि, दावेदारों से लेकर दलों के असमंजस में तैयारियां तेज

 

कोर्ट में याचिका चलने के कारण राजनीतिक दल चुनाव की तैयारियों में नहीं दिखा रहे रुचि 2021




मंदसौर में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर कभी हाईकोर्ट तो कभी सुप्रीम कोर्ट में याचिका के बीच अभी तक चुनाव पर असमंजस बना हुआ है। हालांकि अब 3 जनवरी तक सुनवाई टलने के कारण कुछ स्थिति साफ हो रही है। लेकिन कोर्ट में चल रही याचिका के कारण अब तक दावेदारों से लेकर दोनों ही दल असमंजस में है। इसी कारण 13 दिसंबर से शुरू हो चुकी नाम निर्देशन प्रक्रिया में अब तक तेजी नहीं आई है और अब तक कोई भी इसमें रुचि नहीं दिखा रहा है। वही जनपद व जिला पंचायत के लिए दोनों प्रमुख दलों की अधिकृत सूची को लेकर भी सुगबुगाहट नहीं दिखाई दे रही है। हालांकि इनके बीच प्रशासनिक तैयारियों का दौर तेजी से चल रहा है।




चुनाव होगा या नहीं इसी सोच से नामांकन में नहीं आई तेजी




पहले चरण में 6 जनवरी को मंदसौर तो दूसरे चरण में 28 जनवरी को सीतामऊ व भानपुरा में चुनाव की प्रक्रिया होनी है। इंदौर चरणों के लिए नाम निर्देशन की प्रक्रिया चल रही है लेकिन अब तक इसमें तेजी नहीं दिख रही है। लोग नामांकन कराने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं। सरपंच और पंच के लिए नामांकन आए लेकिन जिला के लिए तो एक भी आवेदन नहीं हुआ है। चुनाव होगा या नहीं इसी असमंजस के कारण अब तक नामांकन में तेजी नहीं आई है क्योंकि कुछ लोगों को याचिका के कारण ऐसा लग रहा है कि इस बार भी पंचायत चुनाव टल सकते हैं। कुछ दलों ने भी इसी कारण तैयारियों में अपना दम नहीं दिखाया है। इसके अलावा चुनावी माहौल भी अब ठंडा दिख रहा है।




राजनीतिक दल भी असमंजस के कारण नहीं कर रहे तैयारियां




दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा और कांग्रेस को जनपद जिला पंचायत के लिए सदस्यों की अधिकृत सूची जारी करते हुए प्रत्याशी तय करना है। इसके लिए मंथन जरूर चल रहा है लेकिन अभी तक किसी भी राजनीतिक दल द्वारा बैठक नहीं बुलाई गई है और राजनीतिक दल भी अपनी रुचि नहीं बता रहे हैं। कांग्रेस द्वारा कोर्ट में चल रही है आशिका के कारण दलों में भी स्थिति स्पष्ट नहीं हो पा रही है और इसी कारण राजनीतिक दल भी तैयारियां तेजी से नहीं कर रहे हैं। पहले दो चरण के लिए प्रतिदिन नामनिर्देशन प्रक्रिया की अंतिम दिनांक नजदीक आ रही है इसके बावजूद भी माहौल धीरे ही चल रहा है। जिला पंचायत सदस्य के लिए अभी तक एक भी नामांकन नहीं आया है। जब तक कोर्ट का फैसला नहीं आएगा तब तक तैयारियां धीरे ही रहेगी।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ