पिपलिया मंडी: झारडा़ नदी में बच्चा भैंस के साथ नदी पार कर रहा था, मगरमच्छ ने बच्चे को अंदर खींच लिया

 

झारडा़ नदी में एक बालक को मगर मच्छ ने खींच लिया 2021



पिपलिया मंडी क्षेत्र के झारडा नदी में एक बालक डूबने की खबर सामने आई है। डूब जाने के बाद बालक की तलाशी की जा रही है।देर रात तक बालक नहीं मिला और ना ही रेस्क्यू टीम वहां पर पहुंची थी। जानकारी के अनुसार रविवार को शाम 5:00 बजे अपनी भैंस के साथ नदी में आ रहे बालक विकास पिता गोपाल गायरी उम्र 15 वर्ष नदी में डूब गया। विकास के साथ उसका चचेरा भाई रवि पिता जीवन भी उसके साथ आ रहा था जो तैर कर बाहर आ गया और विकास नदी में ही डूब गया। विकास के चचेरे भाई रवि जिसकी उम्र 16 वर्ष है ,उसने बताया कि उसका पांव किसी जलीय जीव ने खींचा था, लेकिन वह मशक्कत कर बाहर आ गया।



विकास को भी मगर या किसी जलीय जानवर ने खींच लिया



विकास के चचेरे भाई रवि का कहना है कि दोनों साथ में नदी पार कर रहे थे। विकास का भाव जरूर किसी जलीय जीव ने खींचा होगा। घटना के बाद ग्रामीणों ने नदी में तैर कर विकास की तलाश भी की लेकिन वह असफल रहे। परिजनों ने बताया कि हमेशा विकास अपनी भैंस को चारा खिलाकर आते समय नदी में लेकर आता है और उसके साथ तैरकर नदी पार करता है। वैसे ही इस बार भी वह भैंस के साथ नदी पार कर रहा था लेकिन किसी जलीय जीव ने उसे अंदर खींच लिया। इसके बाद रवि ने सभी को सूचना दी और थोड़ी देर में वहां पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई और विकास को ढूंढने के लिए तरह-तरह के प्रयास चालू हो गए।



देर रात तक नहीं पहुंची रेस्क्यू टीम



घटना की जानकारी पुलिस को दी गई और सूचना मिलते ही तहसीलदार वंदना हरित, चौकी प्रभारी संदीप मौर्य और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची लेकिन देर रात तक रेस्क्यू टीम वहां नहीं पहुंच पाई। बच्चे को बाहर निकालने के लिए माताजी मंदिर पर लाइट की व्यवस्था की गई। मौके पर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा, जिला कांग्रेस महामंत्री आनंद हुपेल, बाबू मेवाती, लाला परमार आदि ने तहसीलदार वंदना हरित से रेस्क्यू टीम को बुलवाकर शव को निकलवाने की मांग की। रेस्क्यू टीम बच्चे को ढूंढ रही है और हो सकता है बच्चे का शव घटनास्थल से थोड़ा आगे चला गया हो। पुलिस ने कहा है कि पूरी जांच के बाद ही मामले का खुलासा किया जाएगा।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ