युवक ने ट्रेन से कटकर दी जान, तीन बहनों में इकलौता भाई था, तीन पत्ती में 10 लाख रुपए हार गया था

 

युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या 2021



प्रदेश के राजगढ़ जिले में तीन पत्ती गेम ने एक युवक की जिंदगी छीन ली। ऑनलाइन गेम तीन पत्ती में 1000000 रुपए डूब जाने के बाद व्यक्ति को सहन नहीं हुआ और युवक ने ट्रेन के आगे कटकर अपनी जान दे दी। वह अपने सर को पटरी पर रखकर सो गया जिससे ट्रेन आई और उसका सर और शरीर अलग-अलग हो गए और मौके पर ही युवक की मौत हो गई। युवक को आनलाइन गेम तीन पत्ती की आदत हो गई थी। युवक तीन पत्ती गेम में सट्टा लगाने लग गया था और पैसे नहीं होने पर वह दूसरों से उधार लेता था। तीन पत्ती गेम में उसने ऐसे ही कर्जा ले लेकर 10 लाख रुपए लगा दिए थे और उसके सभी पैसे डुब चुके थे।

एक महिने से अकेला और गुमसुम रहने लगा था युवक


परिवार वालों ने बताया कि वह पिछले 1 महीने से उदास और अकेला रहने लगा था। 1000000 रुपए का कर्जा हो जाने से वह चिंता में आ गया था और इसी दबाव में आकर उसने आत्महत्या कर ली।घटना रविवार की रात लगभग 8 बजे की है। युवक पडोनिया गांव का रहने वाला है, जिसका शव रेल्वे ट्रेक पर मिला था। लोगों द्वारा जब युवक के शव को देखा गया तो पुलिस को सूचना दी गई। शव की पहचान विनोद दांगी उम्र 30 वर्ष की गई है। युवक पर किसी ने दबाव तो नहीं डाला इसके लिए पुलिस जांच कर रही है। पुलिस ने कहा है कि पूरी जांच होने के बाद ही मामले का सही खुलासा किया जाएगा।

पहले भी फांसी लगाने का प्रयास कर चुका है

विनोद की शादी हो चुकी है और उसके दो बेटे भी है। तीन बहनों के बीच में वह इकलौता भाई है। तीन पत्ती गेम खेलने के लिए उसने अपनी कॉन्प्लेक्स की दुकान वालों से उधार लिए थे। दुकान पर बैठकर वह दिन भर तीन पत्ती गेम खेलता रहता था। परिजनों ने जानकारी देते हुए बताया कि वह कुछ दिनों पहले भी फांसी के लिए प्रयास कर चुका है हालांकि परिवार वालों को पता चलने पर उसे बचा लिया गया था। विनोद के पिता हेमराज एक बड़े किसान है। इसके अलावा उनके हाईवे रोड पर एक बड़ा कॉन्प्लेक्स भी है। इसमें सात आठ दुकानें हैं। विनोद यह सभी दुकानें देखता था। दिनभर तीन पत्ती गेम खेलता रहता था। इसलिए विनोद पर कर्जा हो गया था और उसी से परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ