मंदसौर पशुपतिनाथ का मेला लगाने के लिए मुख्यमंत्री से मिली हरी झंडी, मेला परिसर में शुरू हो गई है तैयारियां


भगवान पशुपतिनाथ महादेव वर्ष 2021 का मेला लगेगा 



पिछले 2 सालों से पशुपतिनाथ भक्त मेले का आनंद कोरोना महामारी के कारण नहीं ले पा रहे थे लेकिन इस बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मेला लगाने के लिए हरी झंडी बता दी है। मंदसौर शहर की परंपरा के अनुसार पशुपतिनाथ मंदिर पर कार्तिक माह में प्रतिवर्ष मेला लगाया जाता है। कोरोना महामारी सरकार के कंट्रोल में आ गई है और सीएम से विधायक की चर्चा के बाद प्रशासन ने निर्णय लिया है और इस वर्ष मेला लगाने के लिए परमिशन दे दी है। कोरोना की गाइडलाइन को देखते हुए इस वर्ष कोई भी सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे ताकि अधिक भीड़ इकट्ठी नहीं हो सके। हालांकि व्यापारियों को रोजगार देने के लिए कोविड-19 गाइड लाइन पालन होने के साथ-साथ दुकानें लगाई जाएगी।



व्यापारियों ने विधायक से मेला लगाने की मांग की थी



पिछले 2 सालों से पशुपतिनाथ मेला नहीं लग रहा था और कई व्यापारियों को नुकसान हो रहा था लेकिन कोरोनावायरस के कारण वह कुछ नहीं बोल सके लेकिन इस बार जिले में कोरोना संक्रमित मरीज नहीं होने से व्यापारियों ने मेला लगाने के लिए विधायक से मांग की। इसके बाद विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने मेले को लेकर सीएम शिवराज से बात की। इसके बाद पूरा प्रशासनिक अमला हरकत में आ गया और अब मेला लगने की संभावना पूरी बन गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी मेला लगाने के लिए हरी झंडी दिखा दी है और मेला परिसर में तैयारियां भी शुरू हो चुकी है।




पिछले साल भी नहीं लगा था पशुपतिनाथ मेला



पिछले साल भी कोरोना महामारी का प्रकोप होने के कारण भगवान पशुपतिनाथ का मेला नहीं लगा था। इसी के कारण प्रशासन और नगर पालिका अमले ने पशुपतिनाथ मंदिर क्षेत्र में मेला लगाने को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया था। 14 नवंबर को पटोत्सव शुरू होना है और अब तक तैयारियां शुरू नहीं हुई है। व्यापारियों ने इस बार विधायक से मेला लगाने की मांग की तो विधायक ने मुख्यमंत्री से चर्चा कर मंजूरी ले ली। हालांकि मुख्यमंत्री ने पहले की तरह मेला लगाने की मंजूरी नहीं दी है। इस वर्ष भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध रहेगा और औपचारिकता के लिए सिर्फ दुकानें खुली रहेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ