कोरोना रिटर्न: नीमच जिले में लंबे समय बाद फिर आया कोरोना पॉजिटिव मरीज, खतरा बढ़ सकता है

 

नीमच जिले में आया नया कोरोना पॉजिटिव मरीज 2021



देश में कोरोनावायरस बड़ी धूम मचाई थी। कोरोना का नाम सुनकर हर कोई घबरा जाता है। पिछले 2 सालों से कोरोना ने हर व्यक्ति को रुला दिया था और सरकार ने कई प्रयासों के बाद इसे कंट्रोल किया था लेकिन कोरोना देश में फिर आने लगा है। अब फिर से देश में कोरोना के मरीज बढ़ने लगे हैं। इसका असर नीमच में भी देखने को मिला है। काफी लंबे समय बाद नीमच जिले में दोबारा कोरोना का मरीज सामने आया है। कोरोना संक्रमित सामने आते ही मरीज को क्वारंटाइन कर दिया गया है और उसका उपचार किया जा रहा है। फिलहाल मंदसौर और नीमच जिले में कोरोना का एक ही मरीज सामने आया है जिससे चिंता की कोई बात नहीं है।




जिले में 90 फ़ीसदी हो चुका है वैक्सीनेशन




प्रशासन ने बताया है कि इस बार विभाग पूरी तैयारी कर चुका है। कुर्ला से घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि जिले में 90 फ़ीसदी वैक्सीनेशन पूर्ण हो चुका है। जिन लोगों ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है, उन्हें भी घर घर जाकर वैक्सीन लगाई जा रही है। जिले में कोरोना का एक सीआरपीएफ पॉजिटिव आने से प्रशासन सक्रिय हो गया है। हालांकि मरीज को क्वॉरेंटाइन कर उपचार किया जा रहा है और मरीज की हालत ठीक दिख रही है। लोगों में कोरोना के दूसरे डोज के प्रति जागरूकता कम दिख रही है लेकिन प्रशासन सभी को ढूंढ ढूंढ कर वैक्सीन लगा रहा है। प्रशासन मोबाइल वैन द्वारा घर-घर और गली-गली पहुंचकर वैक्सीन लगा रहा है। जिला अस्पताल में कोविड-19 सेंटर संचालित है।



आपको इन बातों का विशेष ध्यान रखना है




1- आपको घर में रहने वाले बुजुर्गों का अधिक ध्यान रखना होगा। खासकर ऐसे बुजुर्गों का जो पहले से किसी भी प्रकार की बीमारी से परेशान हो।


2- शारीरिक दूरी का पहले की तरह पालन करना होगा। मास्क और फेस कवर का उपयोग करना बहुत जरूरी है।


3- अपने शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करना है। गर्म पानी और काढ़ा बनाकर उसका सेवन करना है।


4- केंद्र सरकार द्वारा चलाए गए आरोग्य सेतु एप को अवश्य डाउनलोड करें ताकि कोरोना संक्रमित को रोकने के सुझाव आपको सही तरीके से मिल सके।


5- अपने व्यवसाय और उद्योग में साथ में काम करने वाले लोगों के साथ संवेदना रखें।


6- पुराना से युद्ध कर रहे सफाई कर्मी, डॉक्टर और नर्सों का सम्मान करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ