मोबाइल बैटरी में ब्लास्ट, 12 साल के बच्चे के लीवर में घुसे टुकड़े, दो तारो को जोड़ते वक्त हुआ हादसा

 

मोबाइल बैटरी में ब्लास्ट होने से बच्चें की हालत गंभीर 2021




छतरपुर इलाके में मोबाइल की बैटरी ब्लास्ट होने की खबर सामने आई है। मोबाइल फोन में ब्लास्ट होने से 12 साल के बच्चे की गंभीर हालत हो गई। 12 साल के बच्चे को सड़क पर एक मोबाइल की बैटरी रखी हुई मिली और उसे उठाकर अपने घर ले गया। खेल खेल में बच्चे ने बैटरी के 1 पॉइंट से तार जोड़ कर दूसरे पॉइंट में लगा दिए और इस दौरान अचानक बैटरी में ब्लास्ट हो गया और बैटरी के टुकड़े बच्चे के लिवर में घुस गए। बैटरी ब्लास्ट होने से उसके टुकड़े बच्चे के शरीर पर लग गए और ब्लीडिंग होने लगी है। लीवर के अलावा बैटरी के टुकड़े बच्चे के हाथ, पैर मुंह और पेट पर भी लगे हैं।



बच्चा मां के साथ मामा के वहां गया हुआ था



बच्चा छतरपुर का रहने वाला है। बच्चे का नाम अफजल पुत्र हाशिम खान है और उसकी उम्र 12 वर्ष है। बच्चे के गांव का नाम कुर्आहा है। बच्चा अपनी मां के साथ पड़ोसी यूपी के गांव श्रीनगर में अपने मामा के यहां गया हुआ था। बच्चे की मां ने जानकारी देते हुए बताया कि उसे शुक्रवार को सड़क पर मोबाइल की बैटरी पड़ी मिली।बच्चे ने उसे उठा लिया और अपने घर लेकर आ गया। मोबाइल के बैटरी को खिलौना समझ कर वह इसमें इधर उधर तार लगाने लगा और इस दौरान बैटरी में ब्लास्ट हो गया। घटना होने के बाद बच्चे को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसका उपचार चल रहा है।




छोटे बच्चों को ऐसी चीजों से दूर रखे



डाक्टर ने उपचार के दौरान बताया कि बच्चे के लीवर से ब्लीडिंग हो रही है। बच्चे का इलाज जिला अस्पताल के वरिष्ठ सर्जन डॉ वीपी सेशा कर रहे हैं। डाक्टर का कहना है कि बच्चे की हालत गंभीर है। बैटरी के टुकड़े शरीर के काफी अंदर तक घुस गए हैं। बैटरी के टुकड़ों ने बच्चे के शरीर को अंदर तक डैमेज कर दिया है। बैटरी का एक टुकड़ा लीवर तो दूसरा टुकड़ा फेफड़ों में जाकर घुस गया। लीवर की ब्लडिग बंद नहीं हो रही है और अगर ऐसे ही खून बहता रहा तो आपरेशन करना पड़ेगा। बच्चों को कोई भी मोबाइल नहीं दे।चार्ज लगते समय मोबाइल बिल्कुल नहीं चलाएं।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ