मंदसौर: गोदाम पर अवैध रूप से कर रखा था यूरिया का भंडारण, प्रशासन में दबिश देकर की कार्यवाही

 

खाद के अवैध गोदामों पर कार्यवाही 2021



प्रशासन की इतनी मॉनिटरिंग होने के बाद भी जिले में खाद की कालाबाजारी तेजी से चल रही है। प्रशासन और कृषि विभाग की समीक्षा के बाद भी कई गोदामों पर खाद का अवैध रूप से भंडारण किया जा रहा है। जिले में खाद की दुकान और से खाद खरीद कर गोदामों में इकट्ठा किया जा रहा है और फिर ब्लैक में बेचा जा रहा है। जिले में किसानों को खाद की किल्लत आ रही है और किसानों को सोसाइटियों पर खाद लेने के लिए परेशान होना पड़ रहा है। इस कालाबाजारी पर कृषि विभाग कार्यवाही नहीं कर पा रहा है और राजस्व विभाग को इस पर कार्यवाही करनी पड़ रही है।




रात को सुवासरा क्षेत्र में राजस्व विभाग में दो गोदामों पर कार्यवाही की



राजस्व विभाग ने कहा है कि सुवासरा क्षेत्र में रात को दो गोदामों पर छापा मारा गया और वहां से 768 यूरिया की बोरियां बरामद की गई। अवैध भंडारण के मामले में गोदामों पर कार्यवाही की गई। राजस्व विभाग द्वारा कृषि विभाग को सूचना दी गई और उसके बाद कृषि विभाग की टीम ने मौके पर पहुंच कर पंचनामा बनाकर एफ आई आर दर्ज करवाई। राजस्व विभाग ने दो जगहों से 768 बोरी यूरिया जब्त किया। सुवासरा में खाद की कालाबाजारी जोरों से चल रही थी। अधिकारियों को कई दिनों से यूरिया खाद को लेकर शिकायते मिल रही थी। इसके बाद तहसीलदार कविता कडे़ला ने दो जगह यूरिया के अवैध गोदामों पर कार्यवाही की। इसमें जेडी इंटरप्राइजेज एंव व्यास एगो खाद बिज केन्द्र को सील किया गया। कृषि विभाग ने पंचनामा बनाकर दोनों पर कार्यवाही की।




गोदामों से खाद अवैध रूप से बिकने की भी खबर मिली थी




तहसीलदार ने बताया कि किसानों द्वारा गोदामों से अवैध रूप से बेचने की शिकायतें भी मिल रही थी। दोनों ही जगह यूरिया के स्टॉक होने की वजह से कार्यवाही की गई है। यहां पर किसानों ने शिकायत की थी कि गोदामों पर खाद की तेजी से कालाबाजारी हो रही है और तय दामों से अधिक दामों में किसानों को खाद बेचा जा रहा है। इसको लेकर भी तहसीलदार ने गोदाम संचालकों पर कार्यवाही की है। दोनों गोदामों को कषि विभाग द्वारा सील कर दिया गया है। 




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ