मंदसौर के तस्कर को 50 लाख की स्मैक के साथ किया गिरफ्तार, राजस्थान से कोलकाता तक चल रहा था नशे का व्यापार

 

50 लाख की स्मैक के साथ मंदसौर का आरोपी गिरफ्तार 2021




दिवाली के दिन है पुलिस ने एक आरोपी को 50 लाख रुपए की स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया है वह एक अंतर राज्य तस्कर है और प्रदेश के कोने-कोने में स्मैक की तस्करी करता है। दीपावली के दिन ही पुलिस ने एक आरोपी के पास से 50 लाख रुपए की स्मैक बरामद की है। आरोपी ने स्मैक को छिपाने के लिए अपने बैग में एक हिडन पॉकेट बना रखा था जिसमें आरोपी ने स्मैक छिपा रखी थी। पुलिस ने आरोपी के पास से आधा किलो स्मैक बरामद की है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया है और तस्करी करने वाले पूरे समूह की जांच कर रही है।




राजस्थान प्रतापगढ़ से कोलकाता तक करता था तस्करी




पुलिस द्वारा पूछताछ करने पर जानकारी मिली है कि आरोपी राजस्थान के प्रतापगढ़ से कोलकाता तक स्मैक की तस्करी करता था। सिर्फ मध्य प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के कई राज्यों में उसके स्मैक की डिमांड है। इस बार आरोपी राजस्थान से स्मैक कोलकाता लेकर जा रहा था लेकिन ग्वालियर में ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है और पूछताछ शुरू कर दी है। आरोपी की सहायता से पूरे नेटवर्क को पकड़ा जाएगा। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें खबर मिली थी कि ग्वालियर बस स्टैंड पर एक युवक खड़ा है जो बड़ी मात्रा में स्मैक की तस्करी कर रहा है। सूचना देने वाले ने आरोपी की शर्ट और हाथ में पकड़े हुए बैग का रंग भी बता दिया था जिसके अनुसार क्राइम ब्रांच ने तुरंत आरोपी को पकड़ लिया।




मंदसौर का रहने वाला था आरोपी 




क्राइम ब्रांच जब बस स्टैंड पर पहुंची तो वहां पर मुखबिर द्वारा मिली जानकारी के अनुसार एक व्यक्ति बैग लेकर खड़ा था। आरोपी संदिग्ध अवस्था में दिख रहा था और पुलिस को अपने पास आता देख उसने भागने की कोशिश भी की लेकिन वह असफल रहा और क्राइम ब्रांच ने उसे घेर कर पकड़ लिया। पुलिस द्वारा जब आरोपी से पूछताछ की गई तो उसने अपना नाम सफीफ मोहम्मद निवासी मंदसौर बताया। पुलिस द्वारा जब आरोपी के बैग की तलाशी ली गई तो उसमें आधा किलो स्मैक मिली। आरोपी मंदसौर का रहने वाला था और उसका ससुराल राजस्थान के प्रतापगढ़ में था और वहीं से वह स्मैक खरीदता था। आरोपी ने अपना नेटवर्क प्रतापगढ़ राजस्थान से कोलकाता तक बना रखा है। पुलिस अभी और पुछताछ कर रहीं हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ