मंदसौर जिले में जमकर हो रही थी खाद की कालाबाजारी, विभाग ने मारा छापा, दो गोदामों से किए 375 कट्टे जब्त

खाद बीज की दुकानों पर कार्रवाई 2021



मंदसौर जिले में पुलिस में बड़ी संख्या में खाद की कालाबाजारी को पकड़ा है। रविवार रात पुलिस ने दलौदा तहसील के निंबोद और सगरा गांव में प्रशासन ने कार्यवाही के दौरान खाद के गोदाम पर छापा मारा। प्रशासन ने कार्यवाही करते हुए 375 खाद के कट्टे जब्त किए हैं। पुलिस टीम के साथ कार्यवाही करने एसपी और कलेक्टर भी गए थे। कलेक्टर गौतम सिंह के साथ साथ कृषि विभाग के अधिकारियों को फटकार भी लगाई हो। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि रविवार करीब 8:00 बजे दलोदा तहसीलदार संजय मालवीय, थाना प्रभारी संजीव परिहार सहित पुलिस बल के साथ निम्बोद पहुंचे।




बिना लाइसेंस के चल रही थी खाद की दुकाने




प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए बिना लाइसेंस के चल रही खाद बीज की दुकानों पर कार्यवाही करते हुए आरोपी रामकिशन मोतीलाल और घनश्याम परमार को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों की दुकान पर छापा मारते हुए राम किशन मोतीलाल के यहां से 47 कट्टे खाद के जब्त किए है और घनश्याम परमार के यहां से 328 कट्टे खाद के जप्त किए हैं। इससे पहले भी यहां पर खाद की कालाबाजारी हो चुकी थी। जिले में चल रही खाद की कालाबाजारी को लेकर प्रशासन लगातार कार्यवाही कर रहा है। दोनों आरोपी बिना लाइसेंस के खाद के कट्टे बेच रहे थे। दोनों आरोपी दलोदा के बड़े व्यापारी से खाद के कट्टे खरीदते थे। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।





प्रशासन द्वारा रात को की गई खाद की दुकानों पर कार्रवाई




पुलिस समेत एसपी और कलेक्टर ने देर रात खाद के गोदामों पर कार्यवाही की है। कृषि विभाग ने कई पैसे खर्च करके प्लान तैयार किए थे। कृषि विभाग में खाद की कालाबाजारी को पकड़ने के लिए प्लान बनाए थे लेकिन उसके बावजूद भी खाद की कालाबाजारी बड़ी मात्रा में हो रही है। इसको लेकर कलेक्टर ने कृषि विभाग को फटकार भी लगाई है। जिले में सरकारी और दूसरी दोनों प्रकार की कुल 300 से अधिक दुकाने हैं। कालाबाजारी रोकने के लिए कंट्रोल रूम बना कर भी नंबर जारी किए गए थे। इसके बावजूद भी कालाबाजारी हो रही है। कलेक्टर ने पुलिस को दोनों आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। दोनों आरोपियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।








एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ