मंदसौर में अनोखी राहत: कोरोना के दोनों डोज लगवाने पर शराब खरीदी में मिलेंगी 10% की छूट

 

मंदसौर में वैक्सीन लगवाने पर शराब खरीदी में 10% की छूट दी जाएगी 2021 



मंदसौर प्रशासन ने लोगों को वैक्सीनेशन के प्रति जागरूक करने के लिए एक अनोखी पहल चालू की है। जिले के आबकारी अधिकारी ने जिला में वैक्सीनेशन को तेज करने के लिए एक नई पहल चलाई है। आबकारी अधिकारी ने कहा है कि जो भी व्यक्ति कोरोना के दोनों डोज लगवाएगा उसे देशी मदिरा खरीदने पर 10% की छूट दी जाएगी। छूट देने वाली दुकानों पर टीम द्वारा चिह्न भी लगा दिए गए हैं। आबकारी अधिकारी का कहना है कि जो भी वर्ग हमारे यहां आ रहा है उसको जल्द से जल्द वैक्सीन लग जानी चाहिए और इसी के लिए प्रयास चल रहा है। यह पहल चालू होने के बाद मंदसौर जिले की पहचान प्रदेश में फिर से होने लगी है।



किन किन शराब की दुकानों पर दी जाएगी छूट



आबकारी अधिकारी ने बताया कि मंदसौर के सीतामऊ फाटक , भुनियाखेडी और पुराना बस स्टैंड पर दोनों डोज लगवाने वालों को 10% तक की छूट दी जाएगी। जानकारी में बताया है कि अभी आमजनों को नहीं बुलाया जा रहा है।यह निर्णय लेने के बाद जिले में इसकी आलोचना होना शुरू हो गई है और सत्ता एवं विपक्ष विरोध में खड़े हो गए हैं। विपक्ष का शासन के इस निर्णय पर कहना है कि आबकारी विभाग को शराब की बजाय सांची दूध पर डिस्काउंट देना चाहिए ताकि लोगों की सेहत भी बनी रहे और वैक्सीनेशन अभी तेज होता क्योंकि जिले में सभी लोग शराबी नहीं होते और दूध सभी के लिए जरूरी होता है।



लोगों को सिर्फ फायदा नजर आता है



आबकारी अधिकारी का कहना है कि डिस्काउंट देने से लोगों का ध्यान आकर्षित होता है और ऐसा करने से वैक्सीनेशन तेज हो जाएगा। इस निर्णय पर यशपाल सिंह सिसोदिया ने भी ट्वीट किया है कि यह निर्णय लोक हित में नहीं है। इसको लेकर संबंधित अधिकारियों को दोबारा विचार करना चाहिए। पूर्व कांग्रेसी मंत्री नरेंद्र नाहटा ने भी कहा है कि सरकार की बुद्धि ना जाने कहां जा रही है। एक तरफ वैक्सीनेशन लगाकर लोगों को स्वस्थ किया जा रहा है तो दूसरी तरफ डिस्काउंट देकर शराब बेची जा रही है। यह हमारे देश का दुर्भाग्य है। इसको लेकर आबकारी अधिकारी ने कहा है कि हमारा लक्ष्य यहां आने वाले वर्ग को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करना है। अगर परिणाम अच्छा रहा तो योजना लागू ही रहेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ