प्यार में घर से भागे लेकिन बेटी होने से पति नाराज था, मां ने 4 महिने की बच्ची को पिलाया जाहर और खुद ने भी पी लिया

 

4 महीने की बच्ची को जहर पिला कर खुद ने भी पी लिया 2021



आज भी कई महिलाएं बेटी को जन्म देने के बाद आत्महत्या कर लेती है क्योंकि उनके घरवाले बेटी पाकर खुश नहीं होते हैं और जन्म देने वाली मां को ताने मारते हैं। महू में एक ऐसी घटना सामने आई है जिसमें एक औरत ने अपनी 4 महीने की बेटी को जहर पिला दिया और उसके बाद खुद जहर पीकर आत्महत्या कर ली। औरत ने बच्चे को जन्म दिया था और इससे उसका पति खुश नहीं था और रोज ताने मारता था। पति के गाने सुनकर औरत परेशान हो गई और बच्चे को जहर पिला कर मार डाला और खुद भी जहर पीकर मर गई। लड़की और उसके पति के बीच इतना प्यार था कि वह शादी करने के लिए घर से भागे हुए थे। दोनों ने महज 6 महीने पहले ही लव मैरिज की थी।



नाबालिक होने के कारण कुछ महीनों तक यहां वहां छिपते रहे



दोनों नाबालिग की अवस्था में ही घर से भाग गए थे और बालिग होने तक कई महीनों से दोनों इधर-उधर भटक रहे थे। जब लड़की बालिग हो गई तो परिवार वालों से शादी के लिए बात की और परिवार वाले इस रिश्ते को लेकर मंजूर भी हो गए। महू एसडीओपी विनोद शर्मा ने बताया कि खुर्दी गांव के रहने वाले सुभाष और रजनी महू में किराए से मकान लेकर रह रहे थे। रजनी के परिवार वालों ने सुभाष पर आरोप लगाया है कि बेटी होने पर सुभाष रजनी को ताने मारता था। 6 महीने पहले ही रजनी ने बच्चे को जन्म दिया था और इससे सुभाष खुश नहीं था। सुभाष के बार-बार लड़ाई करने पर औरत ने परेशान होकर बच्ची को जहर पिला दिया और खुद भी जहर पीकर मर गई।




इंदौर के अस्पताल में बच्ची को भर्ती भी कराया था 



पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि जहर पिलाने के बाद बच्ची को इंदौर के एमवाय अस्पताल में भी ले जाया गया था लेकिन समय अधिक हो जाने के कारण बच्ची को बचा नहीं सके। पुलिस ने आरोपी पति सुभाष को हिरासत में ले लिया है। रजनी के परिवार वालों ने बताया कि सुभाष रोजाना घर के सामने से निकलता था और इसी कारण रजनी और सुभाष के बीच प्रेम प्रसंग चालू हो गया। रजनी अपनी नानी के घर गई थी और आते समय कहीं गायब हो गई थी। परिवार वालों ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की थी और 6 महीने बाद दोनों किशनगंज में किराए के घर पर मिले। दोनों ने विवाह कर लिया था और परिवार वाले भी इसके लिए राजी हो गए थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ