मंदसौर के बाजार में बिक रहा राशन का गेहूं, अधिकारी शिकायत करने वाले पर ही डाल रहे हैं दबाव

 




मंदसौर में उत्सव में शासन द्वारा गरीबों के लिए दिया जाने वाला गेहूं बाजार में निजी दुकानों पर बिकने का मामला सामने आया है। इस संबंध में शिकायत जिला आपूर्ति विभाग में लगभग डेढ़ महीने पहले कर दी गई थी। शिकायत करने वाले ने मामले का वीडियो भी भेजा था लेकिन अभी तक इस पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है। सीतामऊ क्षेत्र के गांव खेड़ा की राशन दुकान का गेहूं बाजार में बेचे जाने की शिकायत विभाग को प्राप्त हुई थी। पुलिस ने अब जाकर शिकायत पर कार्यवाही करना शुरू की है।



अधिकारी शिकायतकर्ता पर ही डाल रहे हैं दबाव



आपूर्ति अधिकारी का कहना है कि शिकायतकर्ता द्वारा दिए गए वीडियो में जिस बार दान में राशन की दुकानों का गेहूं आता है वह दुकान पर दिख रहा है। उसमें भरा हुआ गेंहू राशन की दुकान का है या नहीं इसकी जांच की जा रही है। शिकायतकर्ता को बयान के लिए आपूर्ति कार्यालय बुलाया गया था। शिकायतकर्ता का आरोप है कि अधिकारी मामले में खेड़ा राशन दुकान के सेल्समैन पर कार्यवाही की बजाए मुझ पर ही दबाव बना रहे हैं। इस मामले में शिकायतकर्ता ने वीडियो और शिकायत जिला कलेक्टर और प्रभारी मंत्री को भी इंटरनेट मीडिया के माध्यम से भेजी है।



राशन की दुकान वाले ने गेहूं देने से कर दिया था इंकार



सीतामऊ क्षेत्र के गांव खेड़ा निवासी प्रहलाद सोलंकी को 2 महीने के राशन के लिए पात्रता पर्ची दी गई थी। प्रहलाद सोलंकी ने जिला आपूर्ति विभाग कार्यालय में 16 अगस्त को शिकायत करते हुए बताया था कि पात्रता पर्ची मिलने के बाद शासन की योजना के अंतर्गत जब मैं गेहूं लेने उचित मूल्य की दुकान पर गया तो सेल्समैन द्वारा राशन के गेहूं देने पर मना कर दिया गया और मेरे साथ अभद्रता पूर्वक व्यवहार किया गया। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि उचित मूल्य की दुकान खेड़ा से राशन का गेहूं बाजारों में बेचा जा रहा है। सीतामऊ में एक दुकान पर गया गेहूं तोलते हुए वीडियो भी शिकायत के साथ दिया गया है। प्रशासन द्वारा अब जांच की जा रही है कि बारदान में राशन का गेहूं था या नहीं था। उसके बाद कार्यवाही को अंजाम दिया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ