कृषि उपज मंडी मंदसौर में आज रात 12 बजे तक ही मिलेगा मंडी में प्रवेश, बाहर लगी लंबी कतारे

 

कृषि उपज मंडी में 28 अक्टूबर 2021 को प्रवेश मिलना होगा बंद 




दीपावली के पर्व पर कृषि उपज मंडी मंदसौर में प्रतिवर्ष 1 सप्ताह का अवकाश रहता है। इस वर्ष भी दिवाली आ चुकी है जिससे मंडी में 1 सप्ताह का अवकाश रहेगा। कृषि उपज मंडी मंदसौर में 1 नवंबर से अवकाश शुरू हो जाएगा और 6 नवंबर तक जारी रहेगा। 7 नवंबर को रविवार होने के कारण मंडी में अवकाश रहेगा और उसके बाद 8 नवंबर को कृषि उपज मंडी में नीलामी शुरू की जाएगी। दिवाली का पर्व आने से प्रतिवर्ष कृषि उपज मंडी मंदसौर में किसानों की भीड़ लग जाती है और इस बार भी ऐसा ही देखने को मिल रहा है कि मंडी के बाहर 3 किलोमीटर तक किसानों के उपज से भरे वाहनों की कतारें लगी हुई है।




28 अक्टूबर की रात 12 बजे तक ही मिलेगा प्रवेश



मंडी के बाहर वाहनों की लंबी कतारें लगी है लेकिन आज रात 12 बजे ही मंडी में प्रवेश बंद कर दिया जाएगा। कृषि उपज मंडी समिति द्वारा यह फैसला इसलिए है क्योंकि मंडी में उपज की काफी मात्रा में पड़ा हुआ है और सभी उपज को नीलाम होने में और मंडी को साफ करने में 3 दिनों का समय लग जाएगा। इसके बाद दीपावली का त्यौहार शुरू हो जाएगा। इसी कारण मंडी समिति 28 अक्टूबर रात 12:00 बजे ही मंडी में प्रवेश करना बंद कर देगी ताकि सभी दीपावली पर अपने घर पहुंच सके। कृषि उपज मंडी समिति ने आदेश जारी कर दिया है कि मंडी में 1 नवंबर से 7 नवंबर तक नीलामी स्थगित रहेगी।




लहसुन की अधिक हो रही है आवक



दीपावली पर सभी को पैसों की जरूरत होते हैं और इसीलिए किसान अपनी उपज लेकर मंडी में पहुंच रहे हैं। अभी के दिनों में कृषि उपज मंडी मंदसौर में लहसुन की बंपर आवक हो रही है और मंडी के बाहर 3 किलोमीटर लंबी वाहनों की लाइन भी लगी है। बुधवार को भी कृषि उपज मंडी मंदसौर में लहसुन की बंपर आवक हुई है। मंडी में सभी प्रकार की उपज मिला कर 39 हजार 285 बोरियों की आवक हुई है। इनमें से सबसे अधिक लहसुन की 18000 बोरियों की आवक हुई है। इसके बाद प्याज 2400 बोरिया और सोयाबीन 9600 बोरियों की आवक हुई है। गेहूं 3000 और चना 1500 बोरियों की आवक हुई है।








एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ