अवकाश खत्म होते ही मंडी में बंपर आवक, मंडी में प्रवेश के बाद भी लग रही 3 किलोमीटर लंबी लाइन, दोनों तरफ वाहनों की भीड़

 

मंदसौर मंडी में बंपर आवक 2021



पिछले दिनों 1 सप्ताह से त्योहारों के कारण कृषि उपज मंडी में अवकाश चल रहे थे। इस बीच सिर्फ शनिवार और सोमवार को मंडी में नीलामी हुई थी इसके अलावा बाकी नहीं ना मंडी में अवकाश था। इतने दिनों के बाद जब मंडी में अवकाश खत्म होगा तो किसानों की इतनी आवक हुई कि सड़क के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई। बड़ी संख्या में किसान मंडी में अवकाश के बाद उपज लेकर पहुंचे। कृषि उपज मंडी मंदसौर में बुधवार को स्थिति बन गई थी कि रात को 8:00 बजे ही मंडी के गेट बंद करने पड़ गए थे। रात की 10:00 बजे ही मंडी के पीछे वाले गेट के वहां से आगे वाले गेट तक वाहनों की कतारें सड़क के दोनों तरफ लग गई थी। लालघाटी रोड से आने वाले मोटरसाइकिल सवारों को निकलने के लिए जगह नहीं मिल रही थी।



मंडी क्षेत्र से 2 किलोमीटर आगे तक चली गई थी वाहनों की कतारें




इतने दिनों से अवकाश होने के कारण अचानक मंडी खुलने पर यह स्थिति हो गई थी कि वाहनों की कतारें औद्योगिक क्षेत्र और ट्रांसपोर्ट नगर तक पहुंच गई थी। गुरुवार को दिन भर में मंडी परिसर में 39512 क्विंटल उपज की नीलामी की गई। यह सारा माल मंडी में रात को 11:00 बजे तक गोदामों में पहुंच पाया। जैसे-जैसे परिसर में रखा उपज खाली होता जा रहा था वैसे वैसे मंडी प्रशासन गेट के बाहर खड़े किसानों को मंडी में प्रवेश दे रहा था।



क्षमता से काफी अधिक गुना माल मंडी में आ गया



सचिव पर्वत सिंह सिसोदिया ने बताया कि दीपावली का त्यौहार आने वाला है जिसके कारण हर आदमी को पैसों की जरूरत है और इतने दिनों से मंडी बंद होने के कारण मंडी खुलते ही अचानक मंडी में क्षमता से कई गुना अधिक माल आ गया। मंडी में जितने वाहन आ सकते थे सभी को प्रवेश दिया गया लेकिन इसके बावजूद भी मंडी के बाहर 3 किलोमीटर तक लाइन लगी रही।परिसर में नीलामी होने के बाद उपज उठते ही किसानों ने नए ढेर कर दिए। गुरुवार रात मंडी के पीछे वाले गेट से आने वाली सड़क के दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गई जिससे डेढ़ किलो मीटर रास्ता पार करने में मोटरसाइकिल वालों को एक घंटा लग गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ