मंदसौर: साल भर से 2 कर्मचारी चुरा रहे थे तेल के डिब्बे, 7 लाख का माल उड़ाया

 

दो कर्मचारी दुकान से उड़ा रहे थे तेल के डिब्बे



मंदसौर शहर में नमकीन की दुकान पर काम करने वाले 2 कर्मचारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों कर्मचारी पिछले 1 साल से रेल के डिब्बों की चोरी कर रहे थे। दोनों कर्मचारियों ने मिलकर अभी तक 7 लाख रूपए का माल उड़ा लिया है। दुकान में धीरे-धीरे तेल के डिब्बों की कमी को देखते हुए जब मालिक को शंका हुई तो मालिक ने पुलिस वालों को जानकारी दी। पुलिस ने दुकान पर पहुंच कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया और सख्ती से पूछताछ की तो दोनों कर्मचारियों ने चोरी करना कबूल कर लिया और तेल के डिब्बों को नीलेश पामेचा को बेचना बताया। पुलिस ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है।




दोनों ने मिलकर एक साल में 7 लाख का तेल चुराया




दोनों कर्मचारियों ने मिलकर एक साल में करीब 7 लाख रुपए का तेल चुराया है। धान मंडी स्थित प्रदीप नमकीन दुकान पर संतोष और कालू पिछले 1 साल से दुकान पर चोरी कर रहे थे। दुकान बंद होने से पहले दोनों कर्मचारी तेल का डिब्बा दुकान के बाहर ले जाकर झाड़ियों में छिपा देते थे। इसके बाद बाजार ठंडा होने पर रात को झाड़ियों से तेल का डिब्बा ले जाते थे। मंगलवार रात को भी दोनों कर्मचारियों ने तेल के दो डिब्बे झाड़ियों में छुपा दिए थे जिसे रात को ले जाते समय कुछ लोगों ने उन्हें देख लिया। इसके बाद दुकान के मालिक प्रदीप कुमार को इसकी सूचना दी गई। दुकान के मालिक ने इसकी सूचना पुलिस को दी और पुलिस ने मामला दर्ज कर दोनों आरोपियों को ढूंढना शुरू कर दिया।



दुकान मालिक और उनके बेटे के बीच झगड़ा होता रहता था




पुलिस ने दोनों आरोपियों की तलाश की जिसमें से एक आरोपी शनि मंदिर की तरफ बांध पर जाता हुआ दिखाई दिया। जब उससे पूछताछ की गई तो उसने शराब की दुकान से आना बताया। पुलिस दोनों आरोपियों के घर पहुंचे और जब आरोपी 11:00 बजे तक घर नहीं आए तो पुलिस को पूरी शंका हो गई और उनको गिरफ्तार कर पूछताछ की गई। पुलिस ने इनके पास से चार तेल के डिब्बे भी बरामद किए हैं। जानकारी में पता चला है कि दुकान से सामान गायब होने की जानकारी प्रदीप कुमार को थी। उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि आखिर दुकान में से सामान कहां जा रहा है और इसके लिए पिता पुत्र झगड़ा करते थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ