मंदसौर: डायन होने के शक में तलवार से काट दी चाची की गर्दन, मौके से आरोपी हुआ फरार

 

डायन होने के शक में काट दिया चाची का गला 2021




मंदसौर जिले के शामगढ़ थाना क्षेत्र में एक अजीब घटना सामने आई है जिसमें शामगढ़ क्षेत्र के गांव नारियाखुर्द में एक लड़के ने डायन होने के शक में अपनी ही चाची की गर्दन तलवार से काट दी। आरोपी ने चाची की गर्दन पर इतना तेज वार किया कि तेजी से खून बहने लगा और चाची की मौके पर ही मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी की जब आंखें खुली तो वहां घबरा गया और मौके से फरार हो गया। जिस समय यह घटना हुई उस समय महिला का 16 वर्षीय बेटा वहां पर ही मौजूद था। घटना के बाद पुलिस को सूचना दी गई और मौके पर पुलिस पहुंची।




परिजनों ने पोस्टमार्टम करने के लिए नहीं दी है परमिशन



मरने वाली के परिजनों ने आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर पोस्टमार्टम के लिए मना कर दिया हालांकि बाद में पुलिस ने समझाइश देकर मृतका का पोस्टमार्टम किया और फिर अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को शव सौंप दिया। गांव के चौकीदार बालाराम के छोटे भाई रामनारायण का स्वर्गवास हो चुका है।उसकी पत्नी बालाबाई अपने 16 वर्षीय पुत्र के साथ रहती थी। 1 दिन बाला राम के पुत्र विष्णु का अपनी चाची से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विष्णु की पत्नी विष्णु को बालाबाई के डायन होने का शक जताती रहती थी। इसी बात पर विवाद बढ़ता देख। इस पर विष्णु ने अपनी चाची पर तलवार से वार किया और मौके पर ही बालाबाई की मौत हो गई।



शव को पोस्टमार्टम के लिए ट्रैक्टर ट्राली में ले जाया गया



हत्या की सूचना गोविंद द्वारा पुलिस को दी गई। इसके बाद पुलिस सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची और बालाबाई केशव को ट्रैक्टर ट्राली में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।युवती को परिजन ट्रेक्टर ट्राली में शामगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लें गए और कुछ समय तक तो परिजनों ने चक्काजाम भी किया। परिजन आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग पर अड़े हुए थे। इस दौरान पुलिस ने उन्हें समझाया और फिर शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। शामगढ़ टीआई ने बताया कि आरोपित की पत्नी नवरात्रि में ही यहां आई थी वह बार-बार चाची के डायन होने की आशंका जताती थी।इसलिए बिष्णु ने चाची की गर्दन काटकर हत्या कर दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ