मंदसौर में गेहूं खरीदी में हुआ 62 लाख का घोटाला, 17 सोसाइटी ने मिलकर रचा था षड्यंत्र

 



मंदसौर जिले में गेहूं खरीदी के दौरान 62 लाख का घोटाला हुआ है। घटना का खुलासा किया गया है कि मंदसौर की 17 सोसाइटियों ने मिलकर गेहूं खरीदी में 62 लाखों रुपए का घोटाला किया है। इससे पहले भी यह चल ही रहा था लेकिन इस बार एक किसान ने सूचना के अधिकार के तहत गेहूं खरीदी के बारे में जानकारी मांग ली और इसके बाद ही जांच के दौरान यह खुलासा हुआ है। सूचना का अधिकार यह होता है कि कोई भी व्यक्ति किसी भी स्थान पर जाकर वहां की जानकारी प्राप्त कर सकता है। अभी जांच पूरी नहीं हुई है। जांच पूरी होने के बाद अंतिम फैसला लिया जाएगा।

62 लाख रुपए का हुआ है घोटाला

2020 21 मई जिले की सभी सरकारी सोसाइटीयो ने गेहूं और चने खरीदी का काम किया था। सरकार द्वारा गोदाम तक माल पहुंचाने के लिए ₹8 तय किए थे लेकिन सोसाइटीयो ने खरीदी बड़ा कर लिया और इसी कारण करीब 6200000 रुपए का घोटाला हुआ है। जब चंदवासा के रहने वाले भारत सिंह पवार नाम के एक किसान ने खर्च को लेकर जब सोसायटी से जानकारी मांगी तो उसकी जांच में पता चला कि 62 लाख का घोटाला हुआ है। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

पूरी जांच के बाद होगी कार्यवाही

प्रशासन ने अभी पूरी बात नहीं बताई है। मामले की जांच पूरी तरीके से की जाएगी और उसके बाद अपराधियों पर उचित कार्यवाही की जाएगी। यह सिर्फ इस बार ही नहीं बल्कि हर वर्ष घोटाला किया जा रहा था। अगर इस बार भी किसान जानकारी नहीं मांगता तो सोसायटी वाले घोटाला करने में सफल हो जाते। जिले के बहुत सारे किसानों ने बीमा करवाया था लेकिन अबकी बार मुआवजा नहीं मिलने पर किसानों ने कम बीमा करवाया है। प्रशासन ने कहां हैं कि पूरी जांच होने के बाद कार्यवाही की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ