ऑनलाइन गेम ने फिर ले ली दो जिंदगियां, पबजी ने लड़की और लूडो ने ली एक युवक की जान

 

Online Games Harmful For Us




आनलाइन गेम्स एक बार फिर जानलेवा साबित हो गए हैं। पहले भी आनलाइन गेम धोखाधड़ी और जानलेवा साबित हो चुके हैं। रविवार को दो ऐसे ही मामले सामने आए हैं जिसमें पब्जी गेम में एक 20 साल की छात्रा की और लूडो गेम में एक 24 साल के युवक की जान ले ली। 20 साल की छात्रा को पबजी की लथ लग गई थी और 24 साल का युवक लूडो गेम को सट्टा समझ बैठा था। दोनों के मोबाइल जब्त कर लिए गए हैं और इनके गेम में जुड़े उनके साथियों की जांच की जा रही है। चलिए नजर डालते हैं इन घटनाओं की ओर।



किस प्रकार से ऑनलाइन गेम ने दोनों की जान ले ली


1- इंदौर में कंप्यूटर कोर्स कर रही थी छात्रा


छात्रा हरदा की रहने वाली थी जिसकी उम्र 20 वर्ष थी। यह इंदौर में कंप्यूटर कोर्स सीखने आई थी इस दौरान इसे पब्जी गेम खेलने की लथ लग गई। छात्रा का नाम राधा उर्फ रक्षा धनवारे निवासी न्यू गौरी नगर है। उसके भाई ने बताया कि जब छात्रा ने सुसाइड किया उससे आधे घंटे पहले छात्रा ने अपने मां और भाई को सामान लेने के लिए बाजार भेज दिया था। जब वह घर लौटे तो छात्रा फांसी के फंदे पर लटकी हुई मिली। परिजनों ने पुलिस को इनफॉर्म किया। मौत होने के आधे घंटे बाद छात्रा के मोबाइल पर किसी का कॉल भी आया। उसके भाई ने जब कॉल को उठाया तो लड़का पानीपत से बोल रहा था। लड़के ने बताया कि कुछ देर पहले ही मेरे साथ पब्जी खेल रही थी। इसके अलावा छात्रा के मोबाइल पर और भी सोशल मीडिया कॉल पड़े हुए थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है।



2- युवक लूडो गेम में लगाता था सट्टा




शनिवार रात को एक 24 वर्षीय युवक ने आत्महत्या कर ली। यह व्यक्ति लूडो गेम का आदी था और लूडो को सट्टे के रूप में खेलता था। युवक विजय श्रीनगर का रहने वाला है। मृतक व्यक्ति का नाम रजत राठौर था। वह पहले एक फाइनेंस कंपनी में काम करता था और उसके बाद उसके दो दोस्त राहुल और विक्की ने मिलकर एक ऐप बनाया था जिसमें यह लूडो को ऑनलाइन सट्टा बनाकर खेलते थे। लोगों से पैसे लेकर गेम की लिंक पहुंचा देते थे। इनका यह कार्य कई महीनों से चल ही रहा था। जब उसके दोस्तों को आत्महत्या का पता चला तो दोनों ने घर जाकर मोबाइल से डाटा डिलीट कर दिया। पुलिस दोनों दोस्तों को गिरफ्तार करके जानकारी ले रही है।



धीरे-धीरे यह गेम काफी डरावने होते जा रहे हैं। छोटे बच्चों से एंड्राइड मोबाइल को दूर रखें।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ