गड्ढों से छलनी हुआ शहर का मुख्य मार्ग, वर्षों से दूर्दशा पर सुधार कहीं से नहीं, लोग हो रहे परेशान

 


हाईवे रोड़ से मंदसौर में आने वाला मुख्य मार्ग गड्ढों से छलनी हो रखा है लेकिन इसका सुधार कहीं से नहीं हो पा रहा है। पिछले तीन सालों से मुख्य मार्ग का हाल ऐसा ही बना हुआ है। शासन से लेकर प्रशासन और सभी सरकारी विभागों के अधिकारी इस मार्ग से रोजाना आवाजाही करते हैं। मुख्य मार्ग होने के कारण रोजाना लाखों लोग इस रास्ते का उपयोग करते हैं लेकिन फिर भी इस बदहाल मार्ग की सूरत बदल नहीं पा रही है और लोगों को रोजाना इस गड्ढे से भरे हुए रास्ते का सामना कर शहर में जाना पड़ रहा है। उड़ती हुई धूल और हिचकोले खाते वाहन ही इस मार्ग की पहचान बन गई है। रास्ते में इतने गढ्ढे है कि इस 4 किलोमीटर रास्ते से गुजरने में लोगों को आधे घंटे का समय लग जाता है।



कहीं पर तो पुरा रोड़ ही गायब हो गया है



इस रोड़ की हालत ऐसी हो गई है कि पूरे रास्ते में लगभग 400 छोटे मोटे गढ्ढे है। इनमें से कुछ गढ्ढे तो इतने बड़े है कि वाहनों को इनसे बचाना पड़ता है और इसी कारण दुर्घटनाएं भी हो रहीं हैं।पूरा रास्ता टुकड़ों में बंट चुका है और कुछ जगह पर तो रोड़ का डामर पूरी तरीके से गायब हो गया है। इस रास्ते में पांच गढ्ढे ऐसे भी हैं जहां हादसा होने पर जान भी जा सकती है। किसानों से लेकर विद्यार्थी और अधिकारियों से लेकर नेता हर कोई इस रास्ते से गुजरता है लेकिन अभी तक इस में कोई सुधार नहीं कर पाया है। इसका खामियाजा आम आदमी रोजाना भुगत रहा है। यहां पर सिर्फ काम करने वाले ही नहीं बल्कि रास्ते में मन भी होने के कारण किसान और अधिकारियों के दफ्तर भी इसी रास्ते पर होने के कारण शहर का हर आम आदमी इस रास्ते को उपयोग करता है। रोजाना 100000 से अधिक लोग इस रास्ते से गुजरते हैं लेकिन पिछले 3 सालों से रास्ते का सुधार नहीं हो पा रहा है।




अब रोड़ को बनने की मंजूरी मिली है



गुराडिया देदा बायपास से लेकर भुनियाखेडी और मंडी तक पहुंचने का रास्ता तो पूरी तरीके से उखड़ चुका है। गुराडिया बाईपास से लेकर मंडी तक रोड़ के दोनों तरफ असंख्य गढ्ढे बन गए हैं।मंडी से लेकर सभी मुख्य चौराहों पर यह रास्ता पूरी तरीके से क्षतिग्रस्त हो चुका है।इन मुख्य चौराहों पर तो रोड़ का नामो निशान ही नहीं बचा है। हालांकि अब जाकर इस रोड़ के लिए मंजूरी मिल गई है। विधायक यशपाल सिंह सिसौदिया ने कहा है कि बारिश का दौर खत्म होते ही रोड़ का कार्य शुरू हो जाएगा।इस बार गुराडिया बाईपास से लेकर श्री कोल्ड तक दोनों तरफ सीसी रोड़ बनाया जाएगा। लगभग ढाई महिने में रोड़ का कार्य पूरा हो जाएगा और लोगों की परेशानी दूर हो जाएंगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ