रिश्वत का सिलसिला जारी: जेल में डोडाचूरा तस्कर बाबू सिंधी को मिल रहा VIP ट्रीटमेंट

 कनावटी जेल में ली जा रही रिश्वत



नीमच की कनावटी जेल में तस्करों से जुड़े कई मामले सामने आ चुके हैं। कुछ दिनों पहले भी जेल पुलिस से तालमेल बैठाकर चार तस्कर दिवाल कूद कर भाग गए थे। ऐसा ही एक और मामला अभी देखने को मिला है। कनावटी जेल में वर्तमान में डोडा चूरा तस्कर जयकुमार सिंधी उर्फ़ बाबू सिंधी को रखा गया है। इसको लेकर शिकायत की गई है कि कनावटी जेल में तस्करों से पैसे लेकर आरोपीयों को बेहतर सुविधाएं दी जा रही है।इसको लेकर पुलिस टीम द्वारा जेल प्रहरी के बैंक खाते की जानकारी भी ली गई है।



जेल प्रहरी द्वारा बाबू सिंधी से रिश्वत ली जा रही है




कनावटी जेल में बंद तस्कर बाबू सिंधी को विशेष सुविधाएं देने का मामला सामने आया है। जेल कक्ष में बाबू सिंधी और उसके परिचीतो और रिश्तेदारों से मुलाकातें कराई जा रही है। शिकायत में मांग की गई है कि जेल में लगे हुए सीसीटीवी कैमरा को जांचा जाए ताकि जेल ली जा रही रिश्वत का भंडाफोड़ हो सके। जेल में सभी के लिए सुबह 9:00 बजे से 1:00 बजे तक आरोपियों से मिलने का समय रखा गया है और 1 दिन में एक ही परिचित से मुलाकात हो सकती है लेकिन तस्कर बाबू सिंधी को दिन में किसी भी समय पर और एक से अधिक रिश्तेदारों को दिन में कई बार मुलाकात करवाई जा रही है।



सिंधी जेल में बैठे बैठे अपनी काली कमाई को ठिकाने लगा रहा है



शिकायत में आरोप लगाया गया है कि बाबू सिंह जी रिश्वत देकर जेल में ही बैठे बैठे अपनी काली कमाई को ठिकाने लगा रहा है और दूसरों के नाम पर कर रहा है। वर्तमान में जेलर मांझी अवकाश पर है इसलिए अभी माझी की जगह अंशुल गर्ग संभाल रहे हैं। जानकारी के अनुसार इनके द्वारा रसूखदार लोगों को घर का खाना भी दिया जा रहा है।यह भी पता चला है कि कुछ ही दिनों में बाबू सिंधी को फोन की सुविधा भी दे दी गई थी।इसको लेकर शिकायतकर्ता राहुल ने सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज कराई है। जेल प्रभारी द्वारा कहां जा रहा है कि किसी भी प्रकार की रिश्वत नहीं ली गई है लेकिन जांच में सीसीटीवी कैमरे, मुलाकात ड्यूटी के दौरान तैनात कर्मचारी अधिकारी की काल डिटेल्स जांच व प्रभारी जेलर के बैंक खातों की जांच के बिंदू शामिल किए गए हैं। जांच के दौरान मामले का खुलासा किया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ