मंदसौर में चोरों ने डेढ़ लाख की बुलेट को 10 हजार रुपए में बेच दिया, 12 बाइक की बरामद

 



चोरों का काम चोरी करना होता है लेकिन मंदसौर के चोर कुछ अलग ही होते हैं। मल्हारगढ़ पुलिस ने कुछ ऐसे ही चोरों के समूह का पर्दाफाश किया है। कार्यवाही करते हुए मल्हारगढ़ पुलिस ने तीन चोरों को गिरफ्तार किया है और इनके साथ साथ 15 मोटरसाइकिल भी गिरफ्त की गई है। पुलिस अभी लापता तीन चोरों का पता लगा रही है। चलिए जानते हैं किस प्रकार से पुलिस ने इन आरोपियों को पकड़ा है। 



मल्हारगढ़ के नरेन्द्र की बाइक हुई थी चोरी



थानाप्रभारी नरेन्द्र यादव ने बताया कि मल्हारगढ़ के निवासी साजिद मेव की 20 सितंबर को बाइक चोरी हो गई थी। साजिद की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया। उसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की और एक दिन पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर मल्हारगढ़ पुलिस ने बस स्टैंड पर जांच करना शुरू की। पुलिस को सूचना मिली थी कि चोरी हुई बाइक को दो व्यक्ति बस स्टैंड की तरफ लेकर आ रहे हैं। उसके बाद पुलिस ने दोनों लोगों को रोक कर उनका नाम पता पूछा।



बाइक चोरी की हुई ही थी


आरोपियों से जब नाम पूछा गया तो एक ने अपना नाम अजय पिता विनोद साहू उम्र 20 वर्ष निवासी पाडेसरा गणेश नगर सूरत और एक नाबालिग था। पुलिस द्वारा जब उनसे बाइक के बारे में पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि अपने दो साथियों के साथ मल्हारगढ़ से बाइक चोरी की थी। पुलिस ने जब उनसे पूछताछ की तो उन्होंने अपने दो अन्य साथियों के साथ उदयपुर सिटी में से 11 अन्य बाइके भी चोरी की हुई है। पुलिस द्वारा दोनों आरोपियों के कब्जे से तीन बुलेट और एक बाइक जब्त की गई है।



दस हजार में बेच दी बुलेट



अजय और नाबालिग के द्वारा एक बुलेट मात्र ₹10000 में जितेंद्र सिंह निवासी काचरिया और एक अन्य बुलेट ₹10000 में अभिषेक भदोरिया निवासी मल्हारगढ़ को बेच दी। इसके अलावा एक बाइक मनीष भट्ट को ₹5000 में और एक नाबालिग को स्कूटी ₹5000 में बेच दी थी। पुलिस द्वारा इन सब से वाहन जप्त कर लिए गए हैं। थाना प्रभारी नरेंद्र यादव ने बताया कि अभी और भी पूछताछ चल रही है और जल्द ही फरार आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ