मंदसौर: तीसरी लहर को बुला रही लापरवाही, ना तो शारीरिक दूरी का पालन, ना ही मास्क लगा रहे लोग, बचाव के लिए अस्पतालों में संसाधनों को किया जा रहा है मजबूत




तीसरी लहर की आशंका के बीच जहां पर मंदसौर जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत किया जा रहा है वहीं दूसरी तरफ लोग कोरोना के प्रोटोकॉल को भूलते जा रहे हैं। कोरोना महामारी की दूसरी लहर थमने के बाद लोग कोरोनावायरस आओ के प्रति लापरवाह होने लगे हैं। शहर के प्रमुख बाजारों में लोगों की भीड़ लग रही है, लेकिन लोग ना तो शारीरिक दूरी का पालन कर रहे हैं और ना ही मास्क लगा रहे हैं। लोगों की यही लापरवाही तीसरी लहर को आमंत्रित कर रही है। एक तरफ अस्पतालों में तीसरी लहर से बचाव और उपचार को लेकर संसाधनों को तैयार किया जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ नागरिकों से लेकर दुकानदार भी कोरोना के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं।




नगर पालिका और पुलिस ने चला रखा है मास्क अभियान




शहर में अनेक कार्यक्रमों में भीड़ जुट रही है। सर्राफा व्यापारी एसोसिएशन के सचिव का कहना है कि अभी समय बहुत नाजुक चल रहा है। इसलिए हमें बेहद सावधानी की आवश्यकता है। सभी दुकानदारों को मास्क लगाकर व्यापार करना चाहिए। नगर पालिका और पुलिस टीम भी कई दिनों से मासिक अभियान चला रहे हैं इसके बावजूद भी लोग मुंह पर मास्क लगाने को तैयार नहीं है। शहर में घुसने वाले रास्तों पर पुलिस बिना मास्को के लोगों को भी रोक रही है उन पर जुर्माना भी लगा रही है लेकिन फिर भी लोग नहीं मान रहे हैं। अगर लोग ऐसी ही लापरवाही बरतने रहे तो फिर से लोगों को समस्या का सामना करना पड़ सकता है।



लोगों को सावधान रहने की जरूरत है




नगर पालिका और स्वास्थ्य विभाग अपनी तरफ से तीसरी लहर से बचने के लिए पूरी तैयारियां कर रहा है। मंदसौर में नई नई मशीनें लगाई जा रही है। दूसरी लहर में सबसे ज्यादा आक्सीजन और बेड की कमी के कारण लोगों की मौत हुई थी लेकिन अबकी बार विभाग ने इनकी पूरी तैयारी कर ली है। अब सिर्फ लोगो के जागरूक होने की जरूरत है क्योंकि अभी लोग कोरोना प्रोटोकॉल को भूल गए हैं और लापरवाही बरत रहे हैं।लोग बाजारों में भीड़ लगा रहे हैं लेकिन शारिरिक दूरी और मास्क नहीं लगा रहे हैं। लोगों की इसी लापरवाही के कारण तीसरी लहर जल्द ही जिले में दस्तक दे सकती है।इसलिए कृपया सावधान रहें और शादी की दूरी और मांस का अवश्य लगाएं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ