मंदसौर: जल्द आ सकती हैं तीसरी लहर, इसी आशंका के बीच चल रही है बेहतर उपचार की तैयारी, विभिन्न अस्पतालों में बेड और सुविधाएं बढ़ाने पर जोर

 




देश सहित मंदसौर जिले में कोरोना की दूसरी लहर में काफी बुरी तरह से प्रभावित हुई थी। कोरोना की दूसरी लहर में जिले में ऑक्सीजन की कमी और उचित स्वास्थ्य व्यवस्था नहीं मिलने पर लोगों को परेशान होना पड़ा था और इसी कारण जिले में बहुत सारी जानें भी गई थी। जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी के कारण बहुत सारे स्कूलों को भी सेंटर बनाना पड़ा था। जिले की दूसरी लहर में इस स्थिति से सबक लेकर प्रशासन अब मंदसौर जिले में तेजी से तीसरी लहर से लड़ने के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं दुरस्त करने में जुड़ी हुई है। प्रशासन तेजी से जिले में स्वास्थ्य सुविधाएं और अन्य प्रकार की सुविधाएं तेजी से बढ़ा रही है।



सबसे ज्यादा ऑक्सीजन और बेड पर ध्यान दिया गया है



कोरोना की दूसरी लहर से सबक लेते हुए प्रशासन सबसे ज्यादा ऑक्सीजन और बेड की उपलब्धता पर अधिक ध्यान दे रहा है। जिला अस्पताल सहित मंदसौर के 10 अन्य अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिए ऑक्सीजन प्लांट लगा दिए गए हैं जिनमें से कुछ प्लांट का लोकापर्ण भी हो चुका है। इसके साथ ही सरकारी अस्पतालों के उन्नयन की तैयारी भी शुरू हो चुकी है। नारायणगढ़ और शामगढ़ सामुदायिक केंद्रों को सिविल अस्पतालों में बदला जा रहा है।साथ ही आठ नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और उप स्वास्थ्य केंद्र खोलने की मांग भोपाल भेजी जा चुकी है।



लोगों को जागरूक रहने की जरुरत है



आंकड़ों से संभावना जताई जा रही है कि तीसरी लहर जल्द ही आ सकती है इसीलिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि मास्क पहनना नहीं छोड़े और सोशल डिस्टेंसिंग का अवश्य पालन करें। लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए भी जागरूक किया जा रहा है। अधिकारियों के अनुसार जिला अस्पताल में आईसीयू वार्ड का कार्य जल्द पूर्ण कर लिया जाएगा। प्रशासन दूसरी लहर के भयानक रूप देख चुका है। इसलिए वीरू प्रशासन की तैयारियां तेज चल रही है। जिला अस्पताल के सभी वार्ड में ऑक्सीजन की लाइन पहुंच चुकी है। एक्सरे मशीन और अन्य मशीनों की मांग आगे भेजी जा चुकी हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ