लाजवाब सिंधु: टोक्यो ओलंपिक में सिंधु ने दूसरा पदक किया अपने नाम, ब्रिटेन को हराकर हॉकी टीम भी पहुंची सेमीफाइनल में

 



टोक्यो में हो रहा है ओलंपिक 2021 में भारत को गोल्ड दिलाने की आस सिंधु ने कायम कर रखी है। इसके अलावा रविवार का दिन टोक्यो ओलंपिक में भारत देश के लिए एक इतिहास बन गया क्योंकि महिला हॉकी टीम ने ओलंपिक में पहली बार सेमीफाइनल में स्थान प्राप्त कर लिया है। भारत की बैडमिंटन स्टार कहलाई जाने वाली पीवी सिंधु ने लगातार दूसरी बार कांस्य पदक जीतकर पहला पदक अपने नाम कर लिया है। सभी को पीवी सिंधु पर आज थी और पीवी सिंधु ने साबित कर दिया और पीवी सिंधु ऐसा करने वाले दूसरी भारतीय खिलाड़ी बने इससे पहले सुशील कुमार ने ऐसा प्रदर्शन किया था।



हॉकी टीम ने ब्रिटेन को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई




इसी के साथ साथ भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने ब्रिटेन को हराया और पदक जीतने की उम्मीद बनाई इससे पहले भारतीय हॉकी टीम ने 1980 में पदक अपने नाम किया था। विश्व चैंपियन और रियो ओलंपिक में रजत पदक प्राप्त कर चुके हैं बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने चीन की आठवी वरिय ही बिंग जियाओ को सीधे गेम में 21-13, 21-15 पांइट से हराकर महिला सिंगल्स का कास्य पदक जिता। छठी वरिय सिंधु ने यह मुकाबला सिर्फ 53 मिनट में अपने नाम कर लिया।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पीवी सिंधु को दी बधाई



पीवी सिंधु पदक जीतने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका स्वागत किया और कहा कि हम आपके बेहतर प्रदर्शन से उत्साहित है। टोक्यो ओलंपिक 2021 में कांस्य पदक हासिल करने पर बहुत-बहुत बधाई। आप भारत देश के लिए एक गौरव है और आप देश के सभी बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक है। वहीं पुरुष हॉकी टीम ने भी 41 साल से चल रही उम्मीदों को जिंदा किया और ब्रिटेन को हराकर टीम को सेमीफाइनल में पहुंचाया। भारत में ब्रिटेन को 3-1 से हराया । भारत ने अपना पिछला पदक 1980 में जीता था। भारत का मुकाबला बेल्जियम के साथ होगा जिसमें पदक का फैसला हो जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ