नशे में चूर लड़कियों ने कार से एक व्यक्ति को कुचला, डिलीवरी बॉय के सर से गुजर गई कार, लड़कियां इतनी नशे में थी कि सही ढंग से खड़ी नहीं हो पा रही थी

 



पूरे देश में जहां लड़कियों को समानता की बात जोरों शोरों से चलाई जा रही इसके साथ ही उनके लिए बहुत सारा अभियान चला जा रहे हैं अभी हाल ही की बात है दिल्ली में एक नाबालिक बच्ची का रेप हुआ जिसके विरोध में लोगों का हुजूम जमा हो गया और अपराधियों को फांसी की सजा सुनाने के लिए सरकार से गुहार लगा रहे होंगे परंतु दूसरी ओर नारी समानता का फायदा उठा उठाने वाली यूपी में भी कम नहीं है, कुछ दिनों पहले लखनऊ में एक एक ड्राइवर को लड़की ने 1 मिनट में 22 थप्पड़ जड़ दिए, दूसरी ओर हिंदी में एक महिला और उसके पति ने मिलकर दो युवकों पर छेड़खानी का आरोप लगाते हुए उनकी पिटाई कर दी जिसके बाद पुलिस ने महिला को हिरासत में लिया, परंतु ऐसा लग रहा है कि नारी समानता की आड़ में अपराध बढ़ते जा रहे हैं अभी इस घटना में एमपी की कुछ नशे में धुत लड़कियों ने एक युवक को गाड़ी से टक्कर मारी जिसके बाद जिओ की कार का पहिया सिर पर चढ़ने के कारण मौके पर ही मौत हो गई हालांकि हम इस बात का समर्थन नहीं करते थे हम हमारा मानना यह है कि नशे में दोस्त कोई भी आदमी इस प्रकार की घटना कर सकता है इसमें किसी भी प्रकार की महिलाएं अब उसको दोस्त ने की जरूरत नहीं है।



नशे में चूर लड़कियों ने डिलीवरी बॉय को कुचल दिया




घटना इंदौर के ए बी रोड की है जहां पर नशे में चूर लड़कियों ने एक डिलीवरी ब्वॉय को टक्कर मारकर उसके सर से अपनी कार गुजार दी जिससे डिलीवरी बॉय की मौके पर ही मौत हो गई। कार चला रही लड़कियों ने इतनी शराब पी रखी थी कि वह ढंग से खड़ी भी नहीं हो पा रही थी। यह घटना होने के बाद आसपास के लोग दौड़कर घटनास्थल पर पहुंचे और चारों लड़कियों को घेर लिया। लोगों ने लड़कियों की गाड़ी पर पत्थर भी मारे और तोड़फोड़ की उसके बाद पुलिस ने पहुंचकर लोगों को रोका। मरने वाले व्यक्ति का नाम देवीलाल है जिसकी उम्र 39 वर्ष है। कार चलाने वाली लड़की एमआईजी में रहती है जिसका नाम गार्गी माहेश्वरी है। कार नितिन माहेश्वरी के नाम से ली गई है। गार्गी माहेश्वरी के साथ उसकी तीन सहेलियां भी कार में मौजूद थी। इनकी हालत भी वैसी ही हो रखी थी। चारों किसी पार्टी में से घर लौट रही थी।



कार ने कुल तीन पलटीया खाई



घटनास्थल के आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि कार स्पीड में भी थी और कार चला रही लड़कियां काफी नशे में थी। घटना के बाद लड़कियों के परिजन घटनास्थल पर पहुंचे तो लोगों ने उनकी कार को भी घेर लिया। उसके बाद पुलिस पहुंची और लड़कियों को पुलिस स्टेशन ले जाया गया। कुछ समय तक तो पुलिस में तीन लड़कियों को नाबालिक कहा उसके बाद जानकारी से पता चला कि चारों लड़कियां कॉलेज स्टूडेंट है और बालिक है। घटनास्थल के पास पेट्रोल पंप है और वहां काम कर रहे एक व्यक्ति ने बताया कि कार की स्पीड इतनी थी कि वह 3 पलटी खा गई और उसके बाद वह डिलीवरी बाय पर जाकर गिरी। लड़कियां इतने नशे में थी कि वह कार से बाहर भी नहीं निकल पा रही थी। पुलिस ने लड़कियों को गिरफ्तार कर लिया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ