Dengue Blast Mandsaur: बेकाबू हुआ डेंगू, सही तरीके से नहीं किया गया लार्वा नष्टीकरण, कोरोना से भी अधिक रहना होगा सावधान

 

Dengue Cases In Mandsaur



मंदसौर जिले में डेंगू बेकाबू हो गया है और यही कारण है कि प्रदेश में सबसे अधिक मरीज डेंगू के अब तक सामने आ चुके हैं। डेंगू के मरीजों की संख्या ने बुधवार को 30 नए मरीजों के आने के बाद 300 का आंकड़ा पार कर दिया है। दूसरी तरफ भोपाल से केंद्र सरकार के किट वैज्ञानिक ने सीतामऊ सहित अन्य स्थानों का निरीक्षण किया है जिस में सामने आया कि डेंगू को नष्ट करने के लिए लार्वा नष्टीकरण से लेकर सर्वे सही रूप से नहीं किया गया है। इसी कारण डेंगू पर नियंत्रण नहीं किया जा सका है। अब कीट वैज्ञानिक ने एक ही गाइडलाइन बनाकर सीएमएचओ और मलेरिया अधिकारी को दे दी है। इसके तहत डेंगू पर नियंत्रण पाया जा सकता है।




शहर में कई जगहों पर गंदा पानी जमा हुआ है





मध्य प्रदेश में जिला डेंगू के मामले में नंबर वन पर आ गया है और उसके बाद भी नगर पालिका को कुछ नहीं सोच रहा है और अभी भी नगरपालिका लापरवाही दिखा रही है। मंदसौर शहर के जगह जगह पर गंदगी फैली पड़ी है लेकिन नगरपालिका इसे साफ करने में रुचि नहीं दिखा रही है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से कुछ दूरी पर ही बड़ी मात्रा में गंदा पानी जमा हुआ है। मेघदूत नगर में भी गंदा पानी का जमाव एक या दो नहीं बल्कि कई जगह हो रहा है। नगर पालिका के द्वारा जो फागिंग की जा रही है वह विशिष्ट लोगों के घर के पास या कॉलोनी में ही की जा रही है उसके अलावा नगरपालिका को कहीं पर भी गंदा पानी नहीं दिख रहा है।



मंदसौर में सबसे अधिक डेंगू का प्रकोप




प्रदेश में मंदसौर जिले में सबसे अधिक डेंगू का प्रकोप है। अब तक डेढ़ सौ से अधिक मरीज डेंगू के मरीज सामने आ चुके हैं। जिला मुख्यालय में करीब 65 फ़ीसदी क्षेत्र डेंगू से प्रभावित हो चुका है। इसके बाद सबसे अधिक मरीज सीतामऊ क्षेत्र के हैं। भानपुरा में विभाग के द्वारा मरीज नहीं बताए जा रहे हैं जबकि हकीकत यह है कि कई मरीज राजस्थान के झालावाड़ में जाकर उपचार करवाकर सही होकर वापस भानपुरा लौट चुके हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि मलेरिया विभाग कितना सुस्त होकर काम कर रहा है। जिला मलेरिया अधिकारी करण सिंह भूरिया का कहना है कि बुधवार को 30 नए मरीज सामने आए हैं उसके बाद उन सभी स्थानों पर सर्वे, लारवा नष्ट करण और फागिंग की जा रही है। धीरे-धीरे डेंगू काफी खतरनाक होता जा रहा है इसलिए आपको सावधान रहने की जरूरत है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ