जिले के गांवों में बिजली काटने के लिए अधिकारियों पर कोई जवाब नहीं, लेकिन वसूली में जुट गया विभाग अमला


Madhya Pradesh Vidyut vitran company action 2021 Mandsaur




मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनी का अमला अभी के दिनों में पूरे जिले में गांव गांव जाकर विद्युत बकाया राशि वसूलने का कार्य कर रहा है और उसके बाद भी जो राशि नहीं दे रहे हैं उनकी बिजली काट रहा है। सिर्फ घरों की ही नहीं बल्कि जिन जिन पंचायतों ने भी बिजली और पानी का बिल नहीं भरा है उनकी लाइनें भी काटी जा रही है। लेकिन विभाग द्वारा की जा रही बिजली कटौती पर वह निरूतर है। शासन स्तर का मामला होने के कारण लोगों के बीच विभाग अमला कुछ बोल नहीं पा रहा है लेकिन जिले में मांग व आपूर्ति में कमी आने के कारण कटौती करनी पड़ रही है।



कई घंटों तक दिन व रात में बिजली की कटौती की जा रही है



विद्युत विभाग द्वारा प्रतिदिन दिन और रात मिलाकर घंटों तक बिजली की कटौती की जा रही है। हालांकि अभी किसानों के लिए सिंचाई का सीजन नहीं आया है लेकिन फिर भी गांव में घरेलू बिजली आपूर्ति में हो रही कटौती के कारण ग्रामीणों के साथ-साथ शहरी लोगों को भी परेशान होना पड़ रहा है। बिजली कटौती के कारण पर विभाग का अमला भले ही निरूतर है लेकिन अमला वसूली करने पर पूरा फोकस कर रहा है। कांग्रेस सरकार में कटौती के चलते एक साथ कई लोगों को हटाने से लेकर निलंबन की बड़ी कार्रवाई बिजली कंपनी के कर्मचारियों पर हुई थी। ‌ लेकिन अब फिर से कटौती की समस्या बढ़ गई है और लोगों को सीधा जवाब नहीं मिल रहा है।



गर्मी और अंधेरे से परेशान होने पर बढ़ रहा जनता का आक्रोश




दिन में तेज गर्मी के समय और रात में बिजली कटने से अंधेरे में हो रही परेशानी के कारण लोगों में आक्रोश आ रहा है। जिले के ग्रामीण इलाकों में बिजली की ज्यादा कटौती हो रही है। पिछले कुछ दिनों से लगातार दिन और रात में बिजली कटौती का दौर चल रहा है। लंबे समय बाद कटौती की समस्या सामने आ रही है और कई दिनों से समस्या का दौर जारी रहने के कारण कांग्रेस ने भी इसे एक मुद्दा बना लिया है और सरकार पर निशाना साध रही है। कांग्रेस ने चेतावनी भी दे दी है कि अगर बिजली कटौती का काम बंद नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा क्योंकि प्रतिदिन जिले में किसी ना किसी गांव में मेंटेनेंस के नाम पर लंबे समय तक बिजली काटी जा रही है। इसी कारण लोगों में आक्रोश देखा जा रहा है।



कटौती के मुद्दे पर नहीं दे पा रहे हैं जवाब



भले ही वर्तमान के दिनों में विद्युत कंपनी का अमला गांव गांव में जाकर बिजली बिल बकाया राशि नहीं देने वालों के घर दस्तक दे रहा है और बिजली काट रहा है। हालांकि बिजली विभाग पर भी शासन दबाव डाल रहा है इसलिए विभाग वसूली करने पर अधिक फोकस कर रहा है लेकिन लगातार हो रही कटौती के कारण आम जनता में आक्रोश दिख रहा है और लोग अपने आक्रोश को विभाग के सामने व्यक्त भी कर रहे हैं लेकिन जनता के बीच कंपनी की टीमें कटौती पर जवाब नहीं दे पा रही है। अब विद्युत मंडल बिल जमा करने के बाद ही बिजली कटौती करना बंद करेगा या आपूर्ति होने के बाद बिजली काटना बंद करेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ