12वी के परिणाम से असंतुष्ट विद्यार्थी अब कर सकते हैं आवेदन, प्रिंसिपल को देना होगा आवेदन, चार चरणों में होगा निपटारा, 14 अगस्त तक चलेगी प्रक्रिया

 



कोरोना महामारी के चलते इस बार कक्षा दसवीं और बारहवीं वाले बच्चों की परीक्षा नहीं हुई थी। परीक्षा की तारीख पर तारीख बढ़ाने पर भी कोरोना खत्म नहीं हुआ और आखिर में आकर सरकार को परीक्षाएं रद्द करनी पड़ी।उसके बाद बैठक में तय हुआ कि अब कक्षा दसवीं और बारहवीं की परीक्षा नहीं होगी और उनको पिछली दो कक्षाओं के आधार पर नंबर दिए जाएंगे। 31 जुलाई को पूरे प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा मंडल और सीबीएसई दोनों पैटर्न के बच्चों के परिणाम घोषित कर दिए गए थे। लगभग सभी बच्चे शत-प्रतिशत पास हुए हैं और अधिकतर बच्चे हैं अपने परिणाम से खुश भी है। लेकिन कुछ विद्यार्थी ऐसे हैं जो अपने परिणाम से संतुष्ट नहीं है और दोबारा परीक्षा देना चाहते हैं। कब से बच्चे शिकायत करते जा रहे हैं।



अब जाकर खत्म हुआ परिणाम से असंतुष्ट छात्रों का इंतजार



अपने परिणाम को लेकर कुछ विद्यार्थी संतुष्ट नहीं थे वह अब उनके फिर से परिणाम प्रक्रिया को करने के लिए आवेदन कर सकते हैं। सरकार द्वारा अंको से जुड़ी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जो बच्चे अपने दोबारा परिणाम के लिए आवेदन करेंगे उनके परिणाम की प्रक्रिया चार चरणों से होकर गुजरेगी। उसके बाद विद्यार्थियों की समस्या का हल किया जाएगा। कक्षा 9वी से लेकर कक्षा बारहवीं तक के विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। प्रक्रिया 14 अगस्त तक चलेगी और 14 अगस्त तक आवेदन भरने वाले सभी बच्चों का समाधान बोर्ड द्वारा कर लिया जाएगा। सीबीएसई ने भी बच्चों को कह दिया है कि परिणाम से असंतुष्ट बच्चे दावा कर सकते हैं उनका फिर से समाधान किया जाएगा।



आवेदन करने की प्रक्रिया क्या रहेगी



जो बच्चे अपने परीक्षा परिणाम से संतुष्ट नहीं है उनको अपने स्कूल के प्रिंसिपल को पत्र जारी करना होगा जिसमें आपको अपनी समस्या बतानी होगी। इसके बाद विद्यालय वाले आपके आवेदन को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से उनके पास रख लेंगे। वही परिणाम को तैयार करने वाली कमेटी विद्यार्थियों द्वारा दिए गए कारणों के आधार पर परिणाम की पुष्टि करेगी। कमेटी द्वारा परिणाम सही पाया जाता है और असंतुष्ट होने का कोई कारण नहीं होता है तो कमेटी विद्यार्थी को सूचना दे देगी। इस पूरी प्रक्रिया का रिकॉर्ड स्कूल वालों को भी अपने पास रखना पड़ेगा। बोर्ड ने इस प्रक्रिया को type-1 श्रेणी में रखा है। अगर आप भी अपने परिणाम से असंतुष्ट है तो 14 अगस्त तक आवेदन कर सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ