तीसरी लहर की तैयारी: बनाए जा रहे हैं 1500 ऑक्सीजन प्लांट, रोजाना 4 लाख मरीजों को जीवन संभव, प्रधानमंत्री ने दिए ऑक्सीजन प्लांट चालू करने के निर्देश

 


कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते केंद्र सरकार ने तैयारियां तेज कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को तीसरी लहर से बचने की तैयारियों को लेकर 1500 ऑक्सीजन प्लांट जल्दी बनाने के निर्देश दिए हैं। यह सभी प्लांट शुरू होने पर ऑक्सीजन सपोर्ट वाले 4 लाख बेड और बढ़ाए जा सकेंगे। वर्तमान में देश में कुल 2.55 लाख बेड ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बेड है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया बैठक में अधिकारियों ने प्रधानमंत्री मोदी को ऑक्सीजन प्लांट के लिए अपडेट किया है।


ऑक्सीजन प्लांट संचालन के लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा


प्रधानमंत्री मोदी ने ऑक्सीजन प्लांट बनने के बाद उनको संचालन करने और रखरखाव के लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षण करवाने के लिए कहा गया है। अधिकारियों ने बताया कि प्लांट संचालन के लिए देशभर में 8000 से ज्यादा लोगों को ट्रेनिंग देने की तैयारी चल रही है। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी होने के कारण देश में कई मौतें हुई थी। ऑक्सीजन वाले कई मामले सामने आने के बाद देश में पीएम केयर्स फंड और विभिन्न समूह द्वारा देश में कुल 1500 ऑक्सीजन प्लांट बनाए जा रहे हैं।


दूसरी लहर अभी गई नहीं है, अभी भी 66 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 10% से ज्यादा है


कोरोना के नए मामले बढ़ते देख केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चेतावनी जारी कर दी है।उन्होंने कहा कि कोरोना की अभी दूसरी लहर गई नहीं है। पिछले 7 दिन मिले थे जहां पर पॉजिटिव आने वालों की संख्या 10% से ज्यादा थी। देश के 80% नए मरीज 90 जिलों से आ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि देश में पहली लहर के सबसे अधिक मरीज 17 सितंबर को आए थे और दूसरी लहर के सबसे ज्यादा मरीज 7 मई को आए थे। अब 3 से 9 जुलाई के बीच रोजाना औसतन 42100 मिल रहें हैं। उम्मीद है कि जल्द ही नए केस और भी घट जाएंगे। इसलिए आपको अभी भी सावधान रहने की जरूरत है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
मानसून लाने के लिए लोग अपनाने हैं अजीब प्रथाएं, अविवाहित स्त्री को नग्न करके खेत जोताया जाता है, जानिए लोगों की यह प्रथाएं वाकई में काम करती हैं,कब और क्यो शुरू हुई यह प्रथाएं
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा