शराबकांड मंदसौर: गिरफ्त में आया किराना दुकान पर जहरीली शराब सप्लाई करने वाला इनामी आरोपी, एसआईटी ने की 2 दिनों में 60 लोगों से पूछताछ

 



मंदसौर जहरीली शराब कांड के मामले में शराब पीने के बाद 7 लोगों की मौत हो चुकी है। मामले की जांच के चौथे दिन पुलिस ने सप्लायर जितेंद्र सिंह चौहान को मध्य प्रदेश राजस्थान सीमा के पास उमरिया गांव से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी जितेन सिंह चौहान को पकड़ने के लिए पुलिस ने ₹10000 का इनाम भी घोषित किया था। वही एसआईटी 2 दिन में इस मामले पर 60 लोगों से चर्चा कर ली है। गुरुवार को जिला मुख्यालय में जनसुनवाई में शराब कांड में जुड़े मामलों को दर्ज किया गया। अब एसआईटी शनिवार को राज्य सरकार के समक्ष अपनी जांच रिपोर्ट पेश करेगी। उधर ग्राम खंखराई में 23-24 जुलाई के दौरान शराब पीने के बाद मृतकों की पैनल पीएम रिपोर्ट एसआईटी को मिली है, इसमें मौत का कारण जहरीली शराब का सेवन सामने आया है हालांकि एसआईटी रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।



पीएम में मिला है जहरीली शराब का कंटेंट, विसरा रिपोर्ट के बाद स्थिति स्पष्ट होगी



एसआईटी प्रमुख डॉ राजेश राजौरा ने बताया कि हमने कई तथ्यों पर जांच की है। कुछ अन्य रिपोर्ट पर भी विवेचना चल रही है। पीएम रिपोर्ट में जहरीली शराब का कंटेंट मिला है आगे की स्थिति विसरा रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट होगी। आबकारी विभाग की शराब को लेकर कथित आरोप लगे हैं। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा एवं प्रियव्रत सिंह 30 जुलाई को मंदसौर आएंगे और कांग्रेसी नेताओं के साथ प्रभावित गांव में पीड़ितों से मिलेंगे और शराब कांड में मृतकों को श्रद्धांजलि देंगे।



राजस्थान से आ रही है मंदसौर में जहरीली शराब



पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने बताया कि प्रभावित गांव में किराना दुकान से शराब बेचने वाले आरोपी पिंटू सिंह और जयपाल सिंह को शराब का सप्लाई करने वाले जितेंद्र सिंह से पूछताछ की जा रही है। प्रारंभिक पूछताछ में उसने शराब राजस्थान से लाना बताया है। इसे स्थानीय स्तर पर खाली बोतलों में भरकर गांव व ढाबों तक पहुंचाया जाता था। शराब पीने से खंखराई गांव में 3 लोगों की मौत हो गई तो पिपलिया मंडी में भी तीन लोगों ने दम तोड़ दिया। कुछ लोगों का इलाज उदयपुर अस्पताल में चल रहा है। मामले में शामिल आरोपी पिता और पुत्र की तलाश की जा रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ