महंगाई: सोयाबीन पहुंची 10000 के पार, पहली बार 5 अंकों में पहुंचा सोयाबीन का वायदा, सोयाबीन में लग रहा सट्टेबाजी का आरोप, सोयाबीन तेल भी पहुंचा आसमान में

 



शुक्रवार को सोयाबीन की कीमत ने इतिहास रच दिया। पहली बार सोयाबीन की कीमत 10000 के पार पहुंची है। सोयाबीन की कीमत पहली बार 5 अंकों में पहुंची है। यह कीमत सिर्फ 2 महीनों के अंदर इतनी बढ़ गई है। आज से 3 दिन पहले सोयाबीन की कीमत ₹8000 थी लेकिन 3 दिनों में ही सोयाबीन 10000 के पार पहुंच गई है। आज भी मंडी में सोयाबीन के भाव में उतार चढ़ाव दिख रहा था लेकिन कीमत 10000 से नीचे नहीं गई। इस सप्ताह में सोयाबीन में रिकॉर्ड कीमत बढ़ी है। आज से पहले सोयाबीन की कीमत इतनी कभी नहीं हुई। अभी संभावना बताई जा रही है कि सोयाबीन के दाम और भी बढ़ सकते हैं। फिलहाल कितने भी खराब सोयाबीन क्यों ना हो वह 6000 से कम नहीं जा रही है।



सोयाबीन में लग गया है सट्टेबाजी का आरोप



किसी ने नहीं सोचा था कि सोयाबीन के भाव 10000 तक पहुंच जाएंगे और इससे स्पष्ट होता है हो रहा है कि सरकार द्वारा तेल और तिलहन की कीमतें कम करने के लिए की गई सभी कोशिशें फेल हो गई है। इससे आरोप लगाया जा रहा है कि सोयाबीन में लगातार सट्टेबाजी हो रही है। सट्टेबाजी पर नियंत्रण के लिए कई पत्र भी लिखे जा चुके हैं। देश में सोयाबीन बीज की कमी और इस बार भी बारिश की कमी के कारण संभावना जताई जा रही है कि सोयाबीन के दाम बढ़ सकते हैं।



हम लोगों की पहुंच से दूर हो रहा सोयाबीन तेल



सोयाबीन में तेजी होने के कारण लगातार सोयाबीन तेल के दाम भी बढ़ते जा रहे हैं जिससे आम लोगों को काफी समस्या आ रही है। पिछले 2 वर्षों से किसानों की सोयाबीन की फसल बिगड़ गई है और देश में सोयाबीन की कमी के कारण तेल के दाम काफी बढ़ गए हैं। सोयाबीन तेल ही नहीं देश में दैनिक जीवन में उपयोग आने वाली हर चीज की कीमत आसमान छू रही है जिससे गरीबों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। पेट्रोल डीजल और घरेलू गैस की कीमत भी गरीब अपने से दूर होती जा रही है। अभी भी किमत गिरने की संभावना नही दिख रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ