जल्दी हो जाएगा पेट्रोल सस्ता,20 फिसदी मिलाया जाएगा एथेनॉल,जानिए इससे गाडियो को क्या होगा नुकसान

 



पिछले साल भर से पेट्रोल के दामो ने आसमान छु रखा है।लोग कब से उम्मीद लगाए बैठे हैं कि अब पेट्रोल सस्ता हो जाएगा लेकिन दाम कम होने की बजाय और ऊंचे होते जा रहे हैं। लेकिन अब सरकार ने पेट्रोल सस्ता करने के लिए एक प्लान‌ तैयार किया है। सरकार ने अगले दो साल मे 20 फिसदी एथेनॉल मिलाने का लक्ष्य रखा है।जिससे देश को महंगे तेल आयात पर निर्भरता कम करने में मदद मिलेगी। सरकार ने पहले 2025 तक पेट्रोल में एथेनॉल मिश्रण करने का लक्ष्य रखा था लेकिन अब किसी कारणवश इसे 2023 तक कर दिया गया है।


जनता को जल्द मिलेगी महंगे तेल से राहत


अब उम्मीद है कि बहुत जल्द ही लोगों को महंगे तेल से राहत मिल जाएगी और सस्ते दामों पर पेट्रोल मिलने लग जाएगा। पिछले साल सरकार 2022 तक पेट्रोल में सिर्फ 10% एथेनॉल मिलाने का लक्ष्य रखा था और 2030 में उसको बढ़ाकर 20% कर दिया था। लेकिन इस साल इसे 2025 तक कर दिया गया था और अब सिर्फ 2023 तक कर दिया गया है।भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है और अपनी मांग के 85% हिस्से के लिए विदेशी आपूर्तिकर्ताओं पर निर्भर है। जरूरी लक्ष्य को हासिल करने के लिए 10 लीटर एथेनॉल की जरूरत पड़ेगी।


एथेनॉल से गाड़ियों को नुकसान होगा या फायदा


एथेनाल के इस्तेमाल करने से 35% काम कार्बन मोनो ऑक्साइड का उत्सर्जन होता है। यहां कार्बन मोनोऑक्साइड और सल्फर डाइऑक्साइड को कम करता है। इसके अलावा एथेनॉल हाइड्रोकार्बन का उत्सर्जन भी काम करता है। इथेनॉल में 35 फिसदी ऑक्सीजन होती है। इसको उपयोग करने से नाइट्रोजन ऑक्साइड का उत्सर्जन भी कम होता है। यानी कि इसके इस्तेमाल से गाड़ियों को बिल्कुल भी नुकसान नहीं पहुंचेगा। यह पर्यावरण को कम नुकसान पहुंचाता है और प्रदूषण भी कम होता है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ