मंदसौर: सोशल डिस्टेंसिंग को पीछे छोड़ मंडी में लग रही किसानों के उपज की बोलियां, व्यवस्था बदली तो तीन उपज के लिए ही मंडी के बाहर लग गई लाइनें

 



मंदसौर शहर की कृषि उपज मंडी में अनलॉक के बाद भी जिलों और जिले के सभी गांव के किसानों को नीलम के लिए यहां हर दिन आने की अनुमति नहीं मिल रही है। अनलॉक होने के बाद भी मंडी में व्यवस्थाएं लोक दिख रही है। इसके कारण किसानों को खरीफ फसल और फसल ऋण से जुड़ी अपने व्यवस्थाओं को लेकर परेशान होना पड़ रहा है। इस बीच सोमवार को काफी लंबे समय बाद मंडी में रौनक देखने को मिली। तीन चीजों में ही 18000 से अधिक की आवक रही तो उसी के साथ मंडी के बाहर किसानों के ऊपर से भरे ट्रैक्टरों की लंबी कतारें देखने को मिली।


लंबे समय बाद दिखी मंडी में रौनक, धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है व्यवस्था


काफी लंबे समय के बाद सोमवार को मंदसौर मंडी में रौनक देखने को मिली और पहले की तरह मंडी के बाहर भी किसानों से भरे उपज की लाइने देखने को मिली। सोमवार को मंडी के बाहर किसानों के ट्रैक्टरों की लंबी कतारें देखने को मिली। इसे देखकर ऐसा लग रहा है कि मंडी की व्यवस्थाएं धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है। वर्तमान में किसान अपनी उपज को बेचकर खरीफ सीजन की तैयारियों में लगे हुए हैं और जरूरत के लिए रेन पूरा करने के लिए लगे हुए हैं। इसी कारण अब मंडी मैं रोनक आने के साथ साथ आवक भी बढ़ रही है।


तीन जिसो में ही 18 हजार से अधिक हुई आवक


कोरोना का संक्रमण कम होने के साथ मंडी प्रशासन ने सोमवार से व्यवस्था में बदलाव किया। इसके तहत सोमवार और मंगलवार से लेकर अब बुधवार को भी प्याज लहसुन के साथ गेहूं की भी नीलामी शुरू करवाई गई। हालांकि मंदसौर सीतामऊ जनपद क्षेत्र के गांवों के किसानों के लिए यह व्यवस्था बरकरार रहेगी। लेकिन बदली व्यवस्था के साथ पहले दिन ही तीन चीजों में 18000 बोरी से अधिक आवक हो गई। इस तरह रोज मंडी में किसानों की संख्या बढ़ती जा रही है और पहले जैसे रौनक लौट रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
मानसून लाने के लिए लोग अपनाने हैं अजीब प्रथाएं, अविवाहित स्त्री को नग्न करके खेत जोताया जाता है, जानिए लोगों की यह प्रथाएं वाकई में काम करती हैं,कब और क्यो शुरू हुई यह प्रथाएं
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा