मंदसौर: किसान आंदोलन गोलीकांड में मृतक किसानों को श्रद्धांजलि देंते हुए कानून रद्द करने की होगी मांग, 6 जून 2017 में हुआ था किसान गोलीकांड

 



मंदसौर जिले में 6 जून 2017 को किसान गोली कांड हुआ था।यह आंदोलन 10 दिनो तक चला था और इसमें किसानों ने समर्थन मूल्य के लिए मांग की थी। इस गोलीकांड में जिले के 6 किसानों की मौत हो गई थी। क्योंकि इनकी मृत्यु किसान आंदोलन में हुई थी इसलिए किसान संगठनों ने इनको एक शहीद माना है। इसलिए इस बार 6 जून को बरसी पर श्रद्धांजलि देते हुए केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की जाएगी। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय में देशभर में आंदोलन कर रहा है।


कर्ज माफी के लिए अभी भी आंदोलन जारी है


किसानों द्वारा संपूर्ण कर्जा माफी और हर उपज के सही दाम मिलने के लिए आंदोलन जारी है। इन्हीं मांगों को लेकर किसानों का देश में किसान संगठनों का समन्वय में हो चुका है जो लगातार मांगों को लेकर आंदोलन कर रहा है। किसान संगठनों के समन्वयक मोर्चा के तहत गोली कांड की बरसी पर 6 जून को जिले भर में भी प्रत्यक्ष कार्यक्रम किए जाएंगे। इसमें श्रद्धांजलि के साथ ही संकल्प सभा भी होगी। इसके तहत 10:00 बजे तक टकरावद, 10:30 बजे चिल्लौद पिपलिया , दोपहर 12:30 बजे पंथ बरखेडा, पहुंचकर सभी 6 शहित किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी।


किसान संगठन के कौन-कौन किसान शामिल होंगे


मालवा किसान संगठन से अमृत राम पाटीदार, दिलीप पाटीदार, महेश व्यास, राजेंद्र पुरोहित, हंसराज पटेल, वल्लभ पाटीदार, मुरली पाटीदार, भगत सिंह बोराणा, रामचंद्र पाटीदार, बाबूलाल पाटीदार, परमानंद पाटीदार, गोविंद पाटीदार, शंभू पाटीदार के साथ ही अन्य किसान संगठनों के पदाधिकारी भी इस मोर्चे में शामिल होंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts