मंदसौर: जिले में 5 जून के बाद तेज होगा आंधी तूफान और बारिश का दौर, 15 जून से हो जाएगी मानसून की शुरुआत

 


शहर सहित जिले में बुधवार सुबह मौसम साफ रहा। गर्म हवा व दक्षिण पश्चिम की तरफ से आ रही नमी के चलते दोपहर में अचानक मौसम बदल गया। बुधवार को जिले के कई क्षेत्रों में तेज बारिश के साथ आंधी चली और बारिश हुई और ओले भी गिरे। मौसम में ठंडक घुली और आंधी कितनी जोर से चली कि कुछ मकानों की छतें भी उड़ गई और कुछ पेड़ भी उखड़ गए। अंचल में कई जगह आंधी तूफान शुरू हो गया इससे नौपता आखिरी दिन भी खंडित हो गया। तेज हवा चलने के कारण घरों व संस्थानों की छते उड़ गई, कुछ दीवारे गिरी। बुधवार को शहर में न्यूनतम तापमान 26 एवं अधिकतम तापमान 39 डिग्री दर्ज हुआ।


15 जून को मध्य प्रदेश में मानसून आ जाएगा


मौसम वैज्ञानिक डॉ डीपी दुबे ने बताया कि यह प्री मानसून की हलचल है। दक्षिण पश्चिम से नमी आ रही है जिससे मध्यप्रदेश के वेस्टर्न हिस्से में बादल बन रहे हैं। इसकी वजह से कहीं-कहीं बारिश हो रही है। अभी जो तेज हवाएं और बारिश हो रही है उसका 5 जून को असर तेज हो जाएगा। हवाई तेज होने के साथ-साथ बारिश भी अधिक होने लगेगी और इसी के चलते हैं 15 वर्ष 16 जून को सिस्टम डिवेलप हो जाएगा और मध्य प्रदेश में मानसून का आगमन हो जाएगा। हालांकि अभी मौसम विभाग में इसके आने के लिए सती प्रथा से कुछ नहीं कहा है। मानसून नहीं आया तो सिस्टम बन रहा उससे बारिश होगी। इस साल औसत बारिश की 98% बारिश होने की संभावना है। लगभग औसत बारिश दर्ज हो जाएगी।


कुचडौद में तेज हवा से 100 फीट लंबा टीन शेड उड़ा


गुजरात गांव में शाम 4:00 बजे तेज आंधी चली। चारभुजा नाथ मंदिर में लगा 2 फीट लंबा टीम का शेड्यूल कर सड़क के दूसरी तरफ मकानों में आकर टिक गया। इस दौरान कई घरों के टीन उड़ गए। बिजली के पोल क्षतिग्रस्त हुए हैं और कई स्थानों पर पेड़ भी उखड़ गए हैं। घरों के चद्दर भी जुड़े हैं और कई लोगों को काफी नुकसान पहुंचा है। इससे पहले 27 मई को भी चली आंधी में मंदिर का आधा टीम उड़ गया था।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ