नई मुसीबत:ब्लेक फंगस और व्हाईट फंगस के बाद आई यलो फंगस नाम की नई बिमारी, गाजियाबाद में मिला पहला मरीज

 


देश में आजकल एक के बाद एक नई बीमारी जन्म लेती जा रही है। सबसे पहले कोरोना नाम की बीमारी आई जो पिछले 2 सालों से देश में भयंकर तबाही मचा रही है कोरोनावायरस बर्तमान में भी अपना दूसरा चरण का प्रकोप बता रहा है। प्रशासन ने इससे निपटने के लिए कोई रास्ता ढूंढ लिया लेकिन उसके बाद नहीं बीमारी ने जन्म ले लिया जिसका नाम ब्लैक फंगस है। ब्लैक फंगस को आए हुए कुछ ही दिन हुए थे कि उसके बाद नई फंगस आ गई इसका नाम व्हाइट फंगस है। और यह सब भी कम पड़ तो नई बीमारी यलो फंगस भी लोगों को डराने के लिए आ गई है। ब्लैक फंगस और वाइट फंगस के बाद अब देश में यलो फंगस का मामला सामने आया है।


गाजियाबाद में आया यलो फंगस का मरीज


उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में यलो फंगस का मामला सामने आया है। डॉक्टरों के मुताबिक यह बीमारी ब्लैक फंगस से ज्यादा खतरनाक है। जिस मरीज में यलो फंगस पाया गया है उसकी उम्र 34 साल है।यह व्यक्ति कुछ ही दिनों पहले कोरोना की बीमारी से लड़ाई लड़ के आया था। वहां डायबिटिक है। गाजियाबाद की एक निजी क्लीनिक में डॉक्टर ने जांच के दौरान पाया गया कि उसको यलो फंगस है। उस मरीज को सुस्ती आ रही थी। उसको भूख भी कम लग रही थी और उसका वजन धीरे-धीरे कम होता जा रहा था। उसको थोड़ा कम भी दिखाई दे रहा था।


ब्लैक फंगस के 5424 मामले आए सामने


2 दिन पहले केंद्रीय उर्वरक रसायन मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने देश में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या 8848 बताई थी। सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया कि अब तक 18 राज्यों में ब्लैक फंगस के 5424 मरीज मिले हैं जिनमें से 4556 मरीज पहले कोरोनावायरस की चपेट में आ चुके थे और 55 फ़ीसदी मरीजों को डायबिटीज थी। सबसे ज्यादा मरीज गुजरात में मिले। वहां पर मरीजों की संख्या 2165 मिली है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts