1 जून से हो जाएगा मंदसौर अनलॉक, लेकिन सभी को ध्यान रखना होगा की हमारे लापरवाही फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है

 


मंदसौर जिले में कोरोना की संक्रमण की दर लगातार कम होती जा रही है। तो प्रशासन इस कम हुए संक्रमण के आंकड़ों को देखते हुए मंदसौर को खोलने की तैयारियां करने लगा है। लेकिन इसके साथ-साथ लोगों की लापरवाही भी सामने आ रही है जो कहीं ना कहीं यह संदेश दे रही है कि थोड़ी सी लापरवाही के कारण फिर से जिले को कर्फ्यू की ओर ना धकेल दें। शनिवार को बड़ी संख्या में पुलिस ने ऐसे लोगों को पकड़ा जो पूर्ण कर्फ्यू में बिना वजह घूम रहे थे इन पर पुलिस ने कार्यवाही भी की। शनिवार को जिला मुख्यालय पर 7 अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल के तहत किए गए।


मरने वालों में एक मरीज ब्लैक फंगस का पाया गया


कुल 7 लोगों की मौत हुई है जिनमें से एक मरीज ब्लैक फंगस से संक्रमित था। जिले में अब तक कुल 9 मरीज ब्लैक फंगस के सामने आ चुके हैं। अगर लोगों ने सतर्कता नहीं रखी तो ब्लैक फंगस भी हमारे लिए एक चुनौती बन सकती है। सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले में मई की शुरुआती दौर यानी कि 2 मई को जिले में संक्रमण की दर 22% थी। पिछले 7 दिनों में संक्रमण की दर देखी जाए तो 21 मई को संक्रमण की दर 5 फ़ीसदी थी। भावेश मई को संक्रमण की दर 3 फ़ीसदी थी। जो 24 मई को बढ़कर 4.6 फिसदी हो गई। फिर 26 मई को दर 3 फ़ीसदी तक पहुंची और 27 मई को 1% जा पहुंची।


किन किन जिलों को किया जाएगा 1 जून से अनलॉक


कोरोनावायरस के तहत देखा जाए तो उन जिलों को 1 जून से अनुरोध किया जाएगा जिनमें संक्रमण की दर 5 फ़ीसदी से नीचे है। मंदसौर जिले की पिछले 7 दिनों में संक्रमण की दर देखी जाए तो 2 पॉइंट 3 फिसदी है। संक्रमण की दर लगातार गिरती जा रही है। वही रिकवरी की दर करीब 94 फ़ीसदी है। पिछले 24 घंटों में 3091 जांच सैंपल में सिर्फ 24 संक्रमित सामने आए हैं। यानी कि संक्रमण की दर घटती जा रही है। लेकिन अनलॉक होने के बाद भी लोगों को ध्यान रखना होगा नहीं तो लोगों की लापरवाही जिले में फिर से संक्रमण बढ़ा सकती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts