जानिए कैसे बनते हैं भयानक चक्रवात तूफान,इंसानो की क्रियाओं से बनते हैं भयानक चक्रवाती तूफान

 



हाल ही में आए तूफान ताऊते ने गुजरात में भारी तबाही मचाई, गुजरात अभी तूफान से हुए नुकसान की भरपाई भी नहीं कर पाया है, और दूसरे तूफान यास ने ओडिशा पश्चिम बंगाल पर कहर ढा दिया है। आइए जानते हैं आखिर ये तूफान बनते कैसे हैं और क्या इन तूफानों के बनने में में कहीं ना कहीं मानो ही जिम्मेदार है।तो यह समझते हैं कि आखिर यह भयानक तूफान बनते कैसे हैं यह तूफान बनते हैं गर्मी के मौसम में यानी जब घर में अपने चरम पर होती है तो समुद्र का पानी गर्म हो जाता है। समुंदर का पानी जैसे गर्म होता है वह भाप बनकर ऊपर उठने लगता है, और समुद्र के ऊपर यह हवा भी इसी पानी और सूर्य की गर्मी से गर्म हो जाती है इसके साथ ही वह भी ऊपर उठने लगती है और ऊपर चली जाती है। जब समुंद्र की गर्म हवा ऊपर जाने लगती है जो नीचे दबाव कम हो जाता है और ऊपर की ठंडी हवा इस खाली जगह को भरने के लिए नीचे आने लगती है।



जब समुंद्र की हवा दोनों ओर से ऊपर जाए जाती है जो बीच में से ठंडी हवा नीचे की और आने लगती है, ठंडी हवा नीचे एक छोटे आकार में आती है जिससे कि वह गोल गोल घूमने लगती है।



आप इस प्रकार समझ सकते हैं कि जब हम बड़े बर्तन में नीचे छोटा सा खोल कर देते हैं तो पानी गोल गोल घूम कर नीचे जाने लगता है।इसी प्रकार जब हवा नीचे जाती है तो वह धीरे-धीरे चक्रवात का रूप लेने लगती है और एक भयानक चक्रवात बन जाती है जो काफी नुकसान करता है।अब यह जाने की जरूरत है कि इसमें इंसान क्या भूमिका निभाते हैं, तो एक सामान्य सी बात है कि जब ग्लोबल वार्मिंग बढ़ती है तो वायुमंडल में गर्मी बढ़ती है जिससे कि समुंदर का पानी गर्म होता है, समुद्र के ऊपर पूरी धरती को ठंडा रखने की जिम्मेदारी है इसलिए वह इस प्रक्रिया को बहुत ही तेजी से करता है जिससे वह अपने आप को ठंडा करता है और एक चक्रवात बन जाता है।

तो सभी का यह कर्तव्य है कि ग्लोबल वॉर्मिंग कम से कम बढ़ाएं ताकि हमें चक्रवात ओर से सुरक्षा मिले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts