पुलिस कार्यवाही: 30000 में रेमेडिसिवर इंजेक्शन व बेचने वाले दो डॉक्टर सहित,3 लोग गिरफ्तार,3 लोग फरार

 


•आरोपियो द्वारा धार में5 व रतलाम में 7 इंजेक्शनबेचे गए


कोरोनावायरसना का कहर बढ़ता जा रहा है , साथ ही लोगों की मुसीबतें भी बढ़ती जा रही है कुछ ऑक्सीजन दवाइयों की सप्लाई के कारण मुसीबतें बढ़ रही है, डॉग और दूसरे लोगों के भ्रष्टाचार के कारण, इसी बीच एक बात सामने आती है कि डॉक्टरों द्वारा रेमेडीसिवर इंजेक्शन ब्लैक मार्केटिंग के द्वारा बाजार में बहुत ही ज्यादा कीमत में बेचे जा रहे हैं।

हमरा रतलाम शहर के 80 फीट रोड स्थित जीवांश हॉस्पिटल से दो आरोपी (डॉक्टर) उत्सव नायक व यशपाल राठौर को शनिवार रात को रेमेडी सीवर इंजेक्शन को ₹30000 में बेचते हुए पकड़ा गया है।

पूछताछ करने पर पता चला है कि उन्होंने यह इंजेक्शन ₹25000 में चोर के मंदसौर के प्रणव जोशी से खरीदा था, पुलिस द्वारा  दबिश देकर उसे भी पकड़ लिया गया है।


आरोपियों के द्वारा यह स्वीकार किया गया है कि उन्होंने इसी तरह 12 इंजेक्शन बेचे हैं , इनमे से 5 इंजेक्शन धार में बेचे गए हैं जबकि 7 इंजेक्शन रतलाम में बेचे गए हैं।


एसपी गौरव तिवारी द्वारा बताया गया है कि 25 वर्षीय उत्सव पिता ईश्वर नायक गांव कोदरी(पटलावद,जिला झाबुआ) तथा 24 वर्षीय यशपाल पिता श्याम सिंह राठौर निवासी पंचेड को गिरफ्तार कर लिया गया है। भोपाल के बीएचएमएस कॉलेज में उत्सव सेकंड ईयर एवं रतलाम के बीएचएमएस कॉलेज में यशपाल अंतिम वर्ष का छात्र है। दोनों रतलाम के शिवांश हॉस्पिटल में बतौर डॉक्टर काम करते थे। मरीज के परिजनों द्वारा इन से संपर्क किया गया था।


इनके द्वारा पीड़ित परिजनों से 3000 एमआरपी वाले इंजेक्शन के ₹35000 मांगे गए। मोबाइल से मोबाइल पर इनसे बात हुई। 3 इंजेक्शन चाहिए थे तो उन्होंने ₹30000 के हिसाब से इंजेक्शन देने की बात कही।तभी परिजनों ने एसपी से बात की।

उन्होंने कुछ अधिकारियों को परिजनों के साथ भेजा, इंजेक्शन लेकर आया जिसके बाद अधिकारियों ने उसे पकड़ लिया। यशपाल जीवांश हॉस्पिटल में मिल गया। कोर्ट द्वारा इन्हें 3 दिन की रिमांड पर भेजा गया है। जोशी को सोमवार को पुलिस द्वारा कोर्ट में पेश किया जाएग।


ऑफिसर के अनुसार शनिवार को जीवांश अस्पताल के लिए इंजेक्शन जारी नहीं हुआ।


अधिकारियों द्वारा रेमेडीसीवर की कालाबाजारी  की जानकारी मिलने पर इनकार किया है। ड्रग ऑफिसर सारिका अग्रवाल का कहना है कि शनिवार को जीवांश हॉस्पिटल के लिए एक भी इंजेक्शन नहीं जारी किया गया था रविवार को पूरा स्टॉक खत्म हो गया था आगे सोमवार तक नया स्टॉक पहुंच पाएगा।


हेल्पलाइन नंबर का असर दिखा है


24 तारीख को ही पुलिस प्रशासन द्वारा एक  हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया था,असर सिर्फ 24 घंटे में दिखा है। प्रशासन द्वारा जो हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है वह इस प्रकार है:704962265,07412-270474,07412-222223


 2 हजार इंजेक्शन पहुंचे हैं रतलाम 


  अभी तक रतलाम में 2 हजार रेमेडी सेवर इंजेक्शन पहुंचे हैं जिनमें 60 से 3 इंजेक्शन रोज निजी अस्पतालों को दिए जा रहे हैं कॉलेज में मरीजों के लिए सिर्फ 200 इंजेक्शन का ही स्टार्ट है जो कि सोमवार तक खत्म होने के आसार दिख रहे है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ