किसानों को परेशानी ना हो उसके लिए मंदसौर जिले में बनाया जाएगा 90 निजी वेयरहाउसो को खरीदी केंद्र, प्रशासन ने उठाया महत्वपूर्ण कदम

 


बीते दिनों सरकारी समिति कर्मचारियों की हड़ताल से सबक लेकर सरकार ने गेहूं खरीदने के लिए एक कठोर कदम उठाया है। निजी वेयरहाउस मालिकों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के अधिकार मिल गए हैं। आप किसान निजी वेयरहाउस में भी गेहूं को समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। वेयर हाउस संचालकों को सरकार खरीदी के लिए ₹27 प्रति क्विंटल के हिसाब से कमीशन देगी। मध्य प्रदेश स्टेट एंड लाजिस्टिग वेयरहाउसिंग कॉर्पोरेशन के जिला प्रबंधक जीएल परमार के अनुसार सरकारी समितियों के अलावा जिले के 90 वेयरहाउसो को खरीदी केंद्र बनाया जाएगा।


3000 टन भंडारण वाले वेयरहाउसों को चुना गया है


जिले में उन वेयर हाउस को चयनित किया गया है जिनकी क्षमता 3000 टन रिक्त है। वेयरहाउस के 15 किलोमीटर के दायरे में आने वाले सभी गांव के किसान अपने ऊपर उस वेयरहाउस में बेच सकेंगे। कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि वेयरहाउस संचालक का खरीदी कर सकेंगे।गोदाम वेयरहाऊस कोरपोरेशन से पंजीकृत होना चाहिए। वहीं प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई ने पत्र जारी कर दिया है। हालाकि सरकारी समितियों पर खरीदी यथावत होगी । 


 नई व्यवस्था से होंगे यह फायदे 


 सोसायटी कर्मचारियों की मनमानी हड़ताल से किसानों को राहत मिलेगी। हड़ताल के कारण उपज खरीदी प्रभाव नहीं होगी। निजी गोदामों पर किसानों को सरकारी गोदामों की अपेक्षा अच्छी व्यवस्था मिलेगी। इससे गोदाम मालिक को भी लाभ मिलेगा कि पहले तो समिति द्वारा खरीदी गई ऊपज से केवल किराया ही मिलता था। अब संचालक स्वयं उपज खरीदेंगे तो आर्थिक लाभ भी मिलेगा। गोदामों में समय भंडारण हो सकेगा। गोदाम खाली नहीं रहेंगे और भुगतान भी हो सकेगा। कर्मचारियों की कमी से हड़ताल पर असर नहीं रहेगा। गोदाम स्तर पर सीमित खरीदी होती है। उपार्जन केंद्रों से गेहूं परिवहन करके लाना पड़ता है। इससे समय और धन दोनों लगता है और इससे भी सरकार को छुटकारा मिला है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: पिपल्या मंडी थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत, किराने की दुकान पर बेची जा रही थी जहरीली शराब, मौके पर पहुंचा प्रशासन
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा