रॉबर्ट वाड्रा ने मोदी सरकार पर बोला हमला, बोले लोगों की मुश्किलों को कम करने के लिए राजनीति में आऊंगा



जयपुर में स्थित मोती डूंगरी के गणेश मंदिर में दर्शन करने के बाद रॉबर्ट वाड्रा ने मोदी सरकार पर निशाना ताना है। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत की गांधी परिवार के पक्ष में और प्रभावी पहल। गांधी परिवार के दामाद कहे जाने वाले रॉबर्ट वाड्रा 26 फरवरी को पुरे दिन भर जयपुर में रहे और जयपुर का भ्रमण किया। क्योंकि राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार है इसीलिए रॉबर्ट वाड्रा ने जयपुर में स्थित मोती डूंगरी स्थित गणेश मंदिर में सुबह-सुबह दर्शन किए। इस मौके पर मंदिर के महंत कैलाश नाथ शर्मा स्वयं उपस्थित रहे। मंदिर में वाड्रा को दुपट्टा उठाकर प्रसाद दिया गया।


गणेश जी का आशीर्वाद लेने के बाद वाड्रा ने मोदी सरकार पर हमला बोला


गणेश मंदिर के महंत कैलाश नाथ ऐसे खास मौकों पर ही उपस्थित रहते हैं। दर्शन करने के पश्चात और गणेश जी का आशीर्वाद लेने के बाद रॉबर्ट वाड्रा ने मीडिया के समक्ष मोदी सरकार पर हमला बोला।वाटर हमें अलग अलग करके प्रदेश के सभी स्तरीय न्यूज़ को अपने इंटरव्यू दिए।यहां तक कि उन्होंने वेब पोर्टल वाले चैनलों से भी बात की। इस मीडिया मैनेजमेंट के पीछे भी सरकार के अधिकारी सक्रिय रहे। रॉबर्ट वाड्रा ने मीडिया के समक्ष कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की नीतियां आम आदमी को मुश्किलों में डाल रही है। एक आम आदमी को समझ नहीं आ रहा है कि मेरी गाड़ी में सो रुपए का पेट्रोल भरवाऊ या अपने बूढ़े माता-पिता के लिए दवाई ले जाऊ। यदि स्कूटर में पेट्रोल डलवाता है तो उसे अपने माता पिता को कंधे पर बैठाकर अस्पताल ले जाना होगा।


हमारा परिवार आम लोगों की मुश्किलों को उजागर करता है: रॉबर्ट वाड्रा


 इसके बाद रॉबर्ट वाड्रा ने यह भी कहा कि हमारा प्रयास आम लोगों की मुश्किलों को उजागर करता है लेकिन जनता को यहां नहीं दिख रहा है। इसी कारण परिवार के सदस्यों को राजनीतिक प्रताड़ना का सामना करना पड़ता है।लोगों की मुश्किलों को कम करने के लिए ही वे राजनीति में आएंगे। वाड्रा ने कहा कि वैसे मैं समय समय पर आवाज उठाता रहता हू। वाड्रा ने माना कि यदि मैं लोकसभा का सदस्य होता तो संसद में ज्यादा प्रभावी तरीके से अपनी बात रख सकता था।अपने साले राहुल गांधी और पत्नी प्रियंका वाड्रा की काबिलियत पर राबर्ट वाड्रा ने कहा कि इन दोनों ने ही अपनी माता जी, दादी और नानी से राजनीति सीखी है और ये दोनों जनता के मुद्दों को उठा रहे हैं। रॉबर्ट वाड्रा ने जिस प्रकार से मोदी सरकार पर हमला किया है उससे लग रहा है कि अशोक गहलोत नेगांधी परिवार के पक्ष में एक और प्रभावी पहल की है। वर्तमान समय में अशोक गहलोत को ही गांधी परिवार का मुख्य सलाहकार माना जा रहा है। सीएम गहलोत स्वयं भी मोदी सरकार पर हमला बोलते रहते हैं। यहां यह उल्लेखनीय है कि वाड्रा ने गहलोत के पिछले कार्यकाल में ही राजस्थान के बीकानेर क्षेत्र में जमीनें खरीदी थी। ऐसी खरीद ही अब वाड्रा के लिए मुसीबत बननी हुई है। 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ