किसानों की पालें से हुई फसल नुकसान के मुआवजे को लेकर तहसीलदार को कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन ।

 


सोमवार को नीमच जिले के भारतीय किसान संघ द्वारा पाले के कारण हुई फसल खराब के मुआवजे की को लेकर कलेक्टर के नाम तहसीलदार को नोटिस दिया गया। जिसमें कहा गया कि नीमच जिले में अभी कुछ दिनों पहले गिरे पाले और इंसेक्ट के कारण फसलों की हुई खराबी को लेकर जिनके सर्वे  कराकर किसानों को उसका मुआवजा दिया जाएगा। पाले के कारण चना, मसूर, धनिया आदि फसलों को नुकसान पहुंचा है जिसके कारण फसलों का उत्पादन घट गया है। पटवारी और बीमा कंपनियों द्वारा सर्वे का कार्य तत्काल शुरू किया जाए ताकि अभी फसलों के निकालने का कार्य शुरू हो रहा है जिससे कि फसल निकलने के बाद सर्वे नहीं हो पाएगा तो प्रशासन तत्काल हुए नुकसान का सर्वे कराया जाए ओर नुकसान का बीमा और मुआवजा दिया जाए। ।


साथ ही किसानों ने ज्ञापन में कहा कि सोयाबीन की मुआवजा राशि जो गत वर्ष की अभी भी बाकी है तो उसे शीघ्र से शीघ्र किसानों के खाते में दाखिल किया जाए।




आइए जानते हैं कि भारतीय किसान संघ के कोषाध्यक्ष ने क्या कहा


भारतीय किसान संघ के कोषाध्यक्ष निलेश पाटीदार का कहना उस दिन में ज्यादातर गर्मी रहने की रात में ज्यादातर ठंड रहने के कारण फसलों में पाला गिरा है। जिसके कारण कई गांवों में चना, धनिया, मसूर जैसी फसलों के पूरे के पूरे खेत नष्ट हो गए हैं और जल गए हैं साथ ही इसबगोल में भी थोड़ा नुकसान देखा गया है जिसको लेकर आज हमने ज्ञापन दिया है और मांग करते हैं कि हुए नुकसान का सर्वे तुरंत हो ओर प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत उसमें राहत दिलाई जाएगी साथ ही आईबीसी 6 4 के तहत मुआवजे का प्रावधान है वह मुआवजा भी किसानों को दिलाया जाए। साथ ही पटवारियों द्वारा जो लापरवाही बरती जा रही है कि बिना किसानों की उपस्थिति में भी पंचनामा बनाया जा रहा है जिसको हमने निवेदन भी किया है कि पटवारियों के साथ गांव की टीम रही और उनकी उपस्थिति में पंचनामा बनाया जाए ना कि- किसान नहीं रही रहे तब पंचनामा बनाए। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Popular Posts

#मंदसौर: लापता राहुल पाटीदार की लाश मिली, पूरे इलाके में फैल गई सनसनी, पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है, पढ़े खबर
किसानों के कर्ज में माफ होंगे सहकारी बैंक से लिए गए 550 करोड़ रुपए की ब्याज राशि ,शिवराज कैबिनेट ने मंगलवार के दिन लिया गया हम फैसला ।
देश का पहला CNG से चलने वाला ट्रैक्टर हुआ लॉन्च  किसानों की लगभग 2 लाख रुपए तक की बचत करेगा प्रत्येक वर्ष , सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर कि क्या है खासियत ।
 अगर आप गुप्ता चौराहे पर कचौरी-समोसा खाने जा रहे हैं तो हो जाए सावधान, आपका वाहन अस्त-व्यस्त खड़ा मिला तो कट जाएगा चालान
उत्तराखंड में फिर से तबाही: ग्लेशियर फटने से नदी किनारे वाले सभी घर बहे, कई लोग पानी के साथ बह गए, कुछ लोगों की गई जान