शिवना शुद्धिकरण को लेकर सामाजिक संगठन द्वारा किया गया जल सत्याग्रह , शिवना नदी में उतर कर अर्ध नग्न होकर किया विरोध प्रदर्शन ।

मंदसौर में भगवान पशुपतिनाथ मंदिर के समीप शिवना नदी में निरंतर बढ़ रही गंदगी को लेकर सामाजिक संगठनों द्वारा जल सत्याग्रह किया गया। जिम्मेदार लोग इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहे है जिसको लेकर सामाजिक संगठन द्वारा उनका विरोध किया जा रहा है।




शिवना शुद्धिकरण को लेकर सामाजिक संगठनों द्वारा जल सत्याग्रह किया जा रहा था लेकिन कोरोना के चलते लोग डाउन लगने की वजह से जल सत्याग्रह को बंद करना पड़ा था लेकिन आप सामाजिक संगठनों ने फिर से शिवना शुद्धिकरण के लिए जल सत्याग्रह शुरू कर दिया है। सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि शिवना के अंदर गंदगी के नाले ना मिले और उन्हें अलग से पाइप लाइन डालकर निकाला जाए। और शिवना का पूरी तरह से शुद्धिकरण किया गया जिससे कोई प्रदूषण नहीं होगा। जिसको लेकर कई संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।


31/02/2021 को मंदसौर में सामाजिक संगठनों द्वारा शिवना नदी में कपड़े उतार कर जल सत्याग्रह किया गया असहाय लोगों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया। कहां की लोग बस घोषणा कर देते हैं और कोई काम नहीं करता है। जिम्मेदार लोग आगे आए वह शिवना शुद्धिकरण के लिए इस अभियान में अपनी भागीदारी ले। कई बार शिवना को स्वच्छ बनाने के लिए करोड़ों रुपए के प्रोजेक्ट को तेयार किया जाता है लेकिन कोई काम नहीं किया जाता है।



आइए जानते हैं जल सत्याग्रह करने वाले सामाजिक संगठनों ने क्या कहा 



सामाजिक संगठनों का कहना है कि हमने शिवना शुद्धिकरण के लिए आंदोलन शुरू किया है पहले प्रशासन द्वारा आश्वासन दिया गया था कि इसके शुद्धिकरण के लिए सरकार द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं जिसको लेकर हमने आंदोलन बंद किया था लेकिन अब देखने में यहां आ रहा है कि शुद्धिकरण के लिए एक परसेंट भी कोई काम नहीं किया गया है इसलिए आज हम इस अभियान की शुरुआत कर रहे हैं क्योंकि इसके लिए हमें अगर किसी की जान लेनी भी पड़ेगी तो लेंगे क्योंकि अगर हम जान दे देंगे तो वह सोचेंगे कि मर गया अच्छा हुआ इसलिए हम किसी की भी जान ले जाएगा लेकिन मां शिवना को शुद्ध कर कर रहेंगे। अगर सरकार द्वारा जो भी बजट का प्लान है तो अगर सरकार के पास बजट नहीं है तो हम मंदसौर की जनता से बजट एकत्रित कर इस काम को करना चाहते हैं तो आगे आए और इस नेक काम में सहयोग करें।


प्रदर्शनकारियों ने कहा कि आज ऐसी स्थिति है कि अगर कोई शिवना नदी के पास से जाता है तो उसे नाक बंद करके निकलना पड़ता है। हमने सरकार से 4 मांगे रखी है 

जिसमें 1) पहली मांग यह रहेगी कि शिवना के अंदर गंदे नाले बंद किए जाएं।

2) दूसरी मांग यह है कि 15 दिन तक सरकारी मशीनें लगाई जाए और पूरे नाले को साफ किया जाए।

3) तीसरी मांग यह है कि नदियों के अंदर कोई भी गंदा नाला ना मिले इसे पूर्ण रूप से बंद किया जाना चाहिए।

4) चौथी सबसे महत्वपूर्ण मांग यह है कि शिवना सुरक्षा की है जो यह भगवान शिव का गर्भ गृह में ही गंदगी बनी हुई है तो भगवान शिव का आशीर्वाद कैसे ले सकते हैं।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा
मंदसौर: पिपल्या मंडी थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत, किराने की दुकान पर बेची जा रही थी जहरीली शराब, मौके पर पहुंचा प्रशासन