#मंदसौर: किसान फाइनेंस कंपनी किसानों का नाम लेकर किसानों को ही लूट रही है, घर घर जाकर किसानों को बातों में बहलाते हैं



खबर मंदसौर की एक फाइनेंस कंपनी की है। यहां फाइनेंस कंपनी किसानों के लिए बनाई गई है जो किसानों के लिए लोन उपलब्ध करवाती है। वैसे मंदसौर में ऐसी बहुत सारी प्राइवेट फाइनेंस कंपनियां है इन सब में से एक फाइनेंस कंपनी भी है जो नाम तो किसान का लेती हैं ओर किसानो को ही लूट रही है।इस कंपनी का एजेंट सहीद मंसूरी एंड मानसिंग चुंडावत भोले भाले किसानों को अपने माया जाल में फसा लेते हैं। यह पहले तो गांव गांव जाकर किसानों के घर जाते हैं और किसानों के सामने अच्छी-अच्छी बातें कर दिया उनकी कंपनी के फायदे सुना कर अपने वश में कर लेते हैं और किसानों को लोन लेने के लिए तैयार कर देते हैं।


कल किसान कंपनी से लोन भी ले लेते हैं


 इस कंपनी के एजेंट किसानों के घर घर जाकर कहते हैं कि अगर आप हमारी कंपनी से लोन लोगे तो आपको बहुत फायदा होगा और दूसरी कंपनियों के मुकाबले हमारे कंपनी में आपके लिए ब्याज बहुत कम लगेगा और दूसरी कंपनियों से हमारी कंपनी बिल्कुल अलग है। इस प्रकार से कई बातें कह कर यह यह लोग किसान को समझा कर लोन दे देते हैं और किसान इनके माया जाल में फंस जाते हैं। किसान जब लोन लेता है तो वह अच्छी अच्छी बातें करते हैं।जब पैसे लिए हैं तो वापस तो देना पड़ेगा यह बात तो सबको पता है लेकिन फसल आने से पहले ही यह लोग रोज रोज घर आने लग जाते हैं। यह घर आकर गाली गलौज करने लग जाते हैं और बोलते हैं कि आपके पास जितने भी पैसें है दे दीजिए और बाद में जल्दी दे देना उसके बाद किसान कहीं से पैसे लाकर उनको दे देता है और इसके बदले में वह लोग अवश्य भी नहीं देते। यहां लोग कंपनी में पैसे जमा भी नहीं करवाते और किसानों को कहते हैं कि जो आप सभी पैसे देंगे तभी आपको रसीद भी जाएंगी।


घर पर किसान नहीं होने पर महिलाओं से गाली गलौज कर देते हैं


कंपनी के एजेंट शहीद मंसूरी औरमान सिंह चुंडावत इतना बेशर्म लोग हैं कि जब घर पर किसान नहीं होता है तो यह लोग घर में उपस्थित महिलाओं से गाली-गलौज कर लेते हैं और कहते कि पैसे जल्दी लौटा देना वरना आपके वाहन को उठा ले जाएंगे। इसके बाद जब किसान बोलता है मेरी फसल आने वाली है तो मैं उसे बेचकर पैसे लौटा दूंगा उस समय तो चले जाते हैं लेकिन जब घर पर कोई नहीं रहता तो वह आते और किसान का वाहन उठा ले जाते हैं। जब किसी के पास जाता है तो वह कहते हैं कि सब पैसे लौटा कर आप अपना वाहन ले जा सकते हो। उसके बाद किसान इधर उधर से कैसे लाकर उनके पास जाता है तो कहते हैं कि आप अपना पूरा लोन क्लियर करवाओ तभी आपको वाहन मिलेगा। किसान बोलता की जो पैसे मेने आपको दिए हैं वो वापस दे दो मेरे पास पूरा लोन किलयर करवाने के पैसे नी है तो मुजे वाहन नही लेना है।तो वह  बोलते हैं की अग्रीमेंट करवा लो आप का लोन किलयर हो जाएगा ओर आपने दिए वो  पैसे देदेगें किसान अग्रीमेंट करवाता लेता तो ये लोग चुपके से वकील को फोन लगाके बोलते की इसमे यह लिखना की वाहन बिकने के बाद ओर लोन आप को जमा करना पड़ेगा।

  

दोनों तरफ से बर्बाद हो जाता है किसान


 अब किसान के पास वाहन भी नहीं है और पैसे भी देना पड़ रहे हैं। जो पैसे दिए किसान ने वो पैसे भी काट कूटकर बराबर कर दिए बोलते की आप का लोन किलयर हो गया अब कोई लोन बाकी नी है। आप की तरफ लेकिन थोड़े दिन बाद ये किसान को नोटिस भेज कर परेशान करने लग जाते अब किसान पर वाहन बी नी है फिर बी पैसे जमा करवाने पड़ रहे तो ऐसे एजेंट सहीद मंसूरी ओर मानसिंग चुंडावत पर कार्रवाई होना चाइये। इनका कोई ऑफिस नहीं है।इसलिये कोई बी किसान इस कंपनी में फायनेंस नही करवाये ओर इन दोनो एजेंट सहीद मंसुरी ओर मानसिंग चुंडावत पर सख्त से सख्त कानून कारवाई होनी चाइये ताकि ये लोग ऐसे आगे किसी बी किसान को लूट नही सके हम सभी किसान लोग कलेक्टर  साहब से यही निवेदन करते है   की सहीद मंसुरी ओर मानसिंग चुंडावत  पर  कानूनी कारवाई करे ओर किसान को अपना वाहन दिलाये या पैसे जो लिए इन लोगो ने वो दिलाये ओर सख्त से सख्त कानून कारवाई  करे                        





 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ